7th Pay Commission : इस दिन कर्मचारियों की सैलरी में होगी बंपर वृद्धि, खाते में आएंगे इतने पैसे

7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों (Central Employees) के लिए एक बहुत बड़ी खुशखबरी सामने आई है। बताते चलें कि कर्मचारियों को आने वाले कुछ दिनों में सरकार (Government) बढ़ाकर महंगाई भत्ता (DA) देने की तैयारी कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 4 फीलदी तक बढ़ोतरी करेगी। यदि ऐसा हुआ तो कर्मचारियों को 34 फीसदी के स्थान पर 38 फीसदी तक महंगाई भत्ता मिलने लगेगा।

बढ़ाया जा सकता है फिटमेंट फैक्टर

महंगाई भत्ते के साथ-साथ कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर में भी 3 गुना बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। इसमें लगभग सवा करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। सरकार के फैसले के बाद महंगाई भत्ता 38 फीसदी हो जाएगा। फिलहाल में कर्मचारी 34 फीसदी महंगाई भत्ते का लाभ ले रहे हैं। वैसे सरकार ने अभी तक इस बात को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है।

7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, इस दिन की जाएगी DA Hike की घोषणा

7th Pay Commission

वहीं सरकारी कर्मचारियों की यह भी मांग है कि फिटमेंट फैक्टर को भी 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना कर दिया जाए। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कर्मचारियों की इस मांग को लेकर सरकार कोई न कोई फैसला ले सकती है। इस मुद्दे पर आगामी महीने में कोई बड़ा फैसला होने की उम्मीद है। यदि सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर को लेकर कोई फैसला किया तो उनकी बेसिक सैलरी में 8000 रूपए की बढ़ोतरी हो जाएगी।

7th Pay Commission Update : सरकार अगले महीने बढ़ा सकती है कर्मचारियों का वेतन, एरियर के तौर पर खाते में मिलेंगे 2 लाख रूपए

इतनी बढ़ जाएगी सैलरी

ऐसे में कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 18000 रूपए से बढ़ाकर 21000 रूपए हो जाएगी। इसका सीधा मतलब ये हुआ कि कर्मचारियों के खाते में अगस्त के महीने में बढ़ाकर सैलरी भेजी जाएगी। काफी लंबे समय से कर्मचारी सरकार के फैसले का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। दरअसल मई के महीने में AICPI Index का आंकड़ा 129 पर पहुंच गया है जिससे कि कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी होने का रास्ता बिल्कुल साफ हो गया है।

7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाएगी सरकार, जल्द हो सकता है बड़ा ऐलान

ऐसे बढ़ा AICPI Index का आंकड़ा

बताते चलें कि जनवरी 2022 में AICPI Index का आंकड़ा 125.1 पर था। फरवरी के महीने में इस आंकड़े में गिरावट हुई और ये सीधे 125 पर पहुंच गया। लेकिन मार्च में एक बार फिर इस आंकड़े में उछाल देखने को मिला और ये सीधे 126 पर पहुंच गया। वहीं अप्रैल के महीने में यह आंकड़ा 127.7 पर आ गया था जो कि मई में 129 पर पहुंच गया है। अब जून के आंकड़े देखने के बाद सरकार इस पर कोई निर्णय लेगी।