Aadhaar Number : केंद्र सरकार ने शुरू की ये योजना, आपकी जमीन का बनेगा आधार नंबर

Aadhaar Number : वर्तमान में आधार कार्ड भारत के नागरिकों के लिए एक बड़ी पहचान बन चुका है। आधार कार्ड पर अंकित नंबरों के माध्यम से व्यक्ति का पूरा विवरण पता किया जा सकता है। ठीक उसी प्रकार अब आपके जमीन का भी आधार नंबर होगा जिसके माध्यम से आपके जमीन का पूरा विवरण आपको मिल जाएगा। बताते चलें कि बजट (Budget) 2022 पेश करते समय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने ये घोषणा की है कि अब से जमीन का डिजिटल तरीके से रिकॉर्ड रखा जाएगा। केंद्र सरकार (Central Government) वन नेशन वन रजिस्ट्रेशन (One Nation One Registration Program) के तहत ये कार्य करेगी।

IP बेस्ड टेक्नोलॉजी का किया जाएगा प्रयोग

गौरतलब है कि जिस तरह से देश के नागरिकों के लिए एक यूनिक नंबर अर्थात आधार कार्ड की व्यवस्था की गई है ठीक उसी प्रकार अब जमीन का भी यूनिक रजिस्टर्ड नंबर जारी किया जाएगा। जमीन के कागजात की सहायता से अब उनका रिकॉर्ड डिजिटल तरीके से रखा जाएगा। इस कार्य में IP बेस्ड टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाएगा। केंद्र सरकार ने ये लक्ष्य निर्धारित किया है कि देश में वर्ष 2023 तक जमीन के सभी रिकॉर्ड को डिजिटल तरीके से रखा जाएगा।

जारी किया जाएगा ULPIN नंबर

बताते चलें कि आपके जमीन का एक यूनिक नंबर अर्थात 14 अंकों का एक ULPIN नंबर जारी किया जाएगा। ये वही नंबर है जिसे आप भूमि का आधार नंबर भी कह सकते हैं। इसमें कलेक्शन ऑफ रिकॉर्ड, सेंट्रल ऑफ रिकॉर्ड, कन्वीनियंस ऑफ रिकार्ड के माध्यम से जनता को काफी लाभ मिलेगा। इसका सबसे बड़ा लाभ ये है कि अब आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी सिर्फ घर बैठकर ऑनलाइन तरीके से आप अपनी जमीन से संबंधित सभी दस्तावेज देख सकते हैं।

जमीन खरीदने या बेचने में होगी आसानी

जारी किया गया ULPIN नंबर आपको देश में किसी भी स्थान पर जमीन खरीदने या फिर बेचने में आपकी पूरी मदद करेगा। इस नंबर के माध्यम से आप कहीं भी आसानी से जमीन खरीद या बेच सकते हैं। आपको किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी। इतना ही नहीं जमीन खरीदने या बेचने वाले का पूरा विवरण स्पष्ट रूप से सामने होगा। यदि भविष्य में उस जमीन का बंटवारा कर दिया जाता है तो उस स्थिति में आधार नंबर भी अलग-अलग हो जाएगा।

ड्रोन की मदद से जमीन की ली जाएगी नाप

बताते चलें कि सरकार One Nation One Registration के तहत ड्रोन (Drone) की सहायता से आपकी भूमि को नापने का काम करेगी। ऐसा इसलिए किया जाएगा ताकि आपकी भूमि का सही तरीके से नाप लिया जा सके। इसमें किसी भी प्रकार की दलाली की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी। इसके बाद भूमि के सभी रिकॉर्ड सरकारी डिजिटल पोर्टल (Digital Portal) पर मुहैया करवा दिए जाएंगे। अब आपको कभी भी भूमि से संबंधित कोई भी दस्तावेज देखना हो तो आप घर बैठे ही देख सकते हैं।

Leave a Comment