Booster Dose : क्या है बूस्टर डोज, ऐसे करेगा कोरोना से बचाव

देश में कोरोना की रफ्तार काफी तेज हो गई है जिससे लोगों में खौफ दिखाई दे रहा है। हैरान करने वाली बात ये है कि आज कोरोना के 3 लाख से भी ज्यादा मरीज मिले हैं। यदि हम बीते 14 दिन पहले की बात करें तो ये आंकड़ा 1 लाख था। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना संक्रमण कितनी तेजी से पैर फैलाता जा रहा है। कोरोना के खतरनाक वैरिएंट ओमिक्रॉन को देखते हुए लोग तेजी से कोविड-19 का टीका लगवा रहे हैं।

क्यों आवश्यक है बूस्टर डोज?

वहीं कई लोगों के मन में एक सवाल उठ रहा है कि कोरोना से बचाव के लिए बूस्टर डोज (Booster Dose) की आवश्यकता क्यों पड़ रही है? क्या अभी तक लगाए जा रहे दोनों डोज पर्याप्त नहीं थे या फिर बूस्टर डोज ज्यादा सुरक्षित है? यह जानना बहुत जरूरी है कि कोरोना (Corona) से बचाव के लिए बूस्टर डोज बेहद आवश्यक है। भारत में इसे प्रिकॉशन डोज के नाम से भी जाना जाता है।

Booster Dose : क्या है बूस्टर डोज, ऐसे करेगा कोरोना से बचाव

कब लगवाना होगा टीका

विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगने के 90 दिनों बाद ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी। ऐसा माना जा रहा है कि यह वैक्सीन बहुत लाभदायक है इसीलिए इसे लगवाना बेहद जरूरी है। अबी तक लोगों को कोविड वैक्सीन की मात्र 2 डोज ही लगाई जा रही थी। जिसका असर एक समय के बाद कम होता दिखाई दे रहा था। इसीलिए लोगों को वैक्सीन की तीसरी डोज लगाने का निर्णय लिया गया। इस डोज से लोगों को काफी हद तक लाभ मिलेगा। यदि आपने कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है तो बूस्टर डोज के लिए आपका रजिस्ट्रेशन पहले ही हो जाएगा।

ऐसे बुक करें स्लॉट

जिन लोगों को दोनों डोज लगवाए 9 महीने हो चुके हैं उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर Cowin की तरफ से एक मैसेज आएगा। मैसेज प्राप्त होने के बाद आप वेबसाइट www.cowin.gov.in पर जाकर वैक्सीनेश सेंटर का चुनाव करते हुए अपना स्लॉट बुक कर सकते हैं। आप जैसे ही अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भरेंगे आपके पास एक OTP आएगा। OTP भरते ही आपको पता चल जाएगा कि कोविड वैक्सीन के दोनों डोज लगवाने की अवधि 9 महीने पूरी हो चुकी है या नहीं?

यदि आपको ऐसा लगता है कि बूस्टर डोज लेने की आवश्यकता है या नहीं तो आप अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। आपके डॉक्टर एंटीबॉडी टाइटर टेस्ट (Antibody Titer Test) का माध्यम से एंटीबॉडी लेवल की जांच करके यह बता सकते हैं कि आपको बूस्टर डोज की आवश्यकता है या नहीं? यदि आपके टाइटर्स बेहद कम हैं तो आपके लिए बूस्टर डोज बहुत कारगर साबित होगा।

कोरोना की बढ़ती रफ्तार

बीते 24 घंटों में कोरोना के 3,17,532 मामले सामने आए हैं जो कि बेहद खौफनाक आंकड़ा है। वहीं देश में ओमिक्रॉन के अभी तक 9,287 मामले दर्ज हुए हैं। फिलहाल देश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 19,24,051 है। कई लोग ऐसे भी हैं जो अभी तक कोविड वैक्सीन की पहली डोज से भी वंचित हैं। ये लापरवाही बहुत भारी पड़ सकती है। जिस समय कोरोना के केस बेहद कम आ रहे थे उस समय भी लोगों को विशेषज्ञों द्वारा बार-बार चेतावनी दी जा रही थी।

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया जा रहा है। लोगों को कोरोना से बचाव के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। ऐसा भी देखने को मिल रहा है कि लोग कर्मचारियों को देखते ही भागने लग रहे हैं। इतना ही नहीं कई बार उनके साथ मारपीट करने पर भी उतारू हो जा रहे हैं। पुलसि व प्रशासन दिन रात मेहनत करके लोगों को जागरूक करने में लगा है। कई स्थान पर लोगों द्वारा कोरोना गाइडलाइन का पालन भी नहीं किया जा रहा है। जहां एक तरफ मंजर खौफनाक होता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ लोगों की लापरवाही बहुत महंगी पड़ सकती है।

Leave a Comment