Budget 2023-24 : वित्तमंत्रीजी सुरक्षित निवेश के विकल्प बहुत सीमित रह गए हैं, प्लीज PPF की टैक्स डिडक्शन लिमिट बढ़ाकर 3 लाख कीजिए.

Budget 2023: बजट 2023 में पीपीएफ की निवेश सीमा बढ़ाने से फायदा हो सकता है।सबसे पहले, इस योजना के करीब मनुष्यों का आकर्षण बढ़ेगा।इतने लंबे समय से यह योजना काफी हद तक सफल और अधिकतम सफल रही है।निवेश की सीमा बढ़ने से आकर्षण में उछाल आएगा।

Budget 2023: 1 फरवरी को आम बजट (Budget 2023) पेश किया जाना है.हमें उम्मीद है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कई बड़े ऐलान कर सकती हैं।खासकर करदाताओं की निगाहें एक बार फिर उन्हें काफी उम्मीदों से देख रही होंगी।क्या करदाताओं के लिए कर के बोझ को कम करने के लिए सीमा के भीतर कोई उछाल या आयकर स्लैब में कोई परिवर्तन हो सकता है?यह आने वाले दिनों में ही पहचाना जा सकता है।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट की व्यवस्था के लिए हितधारकों और आम जनता से सिफारिशें मांगी थीं।लेकिन, इसी बीच एक बड़ी जानकारी सामने आई है।पुनर्मूल्यांकन की माने तो इस बार सरकार पीपीएफ पर पैसा खर्च करने वाले लोगों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है।ऐसा उपहार कि वे इससे दुगुना लाभ प्राप्त कर सकें।

Budget 2023-24

PM Kisan योजना में अब मिलेंगे 8000 रुपए! Budget 2023 में किसानों के लिए आने वाला है ये बड़ा ऐलान, पढ़ें डीटेल्स।

PPF निवेशकों को हो सकता है दोगुना फायदा

अब तक एक आर्थिक वर्ष (PPF Investment) में पीपीएफ में 1.5 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है।
इसमें टैक्स छूट मिलनी है और 7.1 फीसदी की दर से रिटर्न मिलना है।पुनर्मूल्यांकन की माने तो इस बार बजट (बजट 2023) में पीपीएफ में निवेश की सीमा बढ़ाई जा सकती है।1.5 लाख रुपये की वार्षिक सीमा से इसे बढ़ाकर 3 लाख रुपये किया जा सकता है।यानी आम निवेशक को इसमें तीन लाख रुपए जमा करने की इजाजत होगी, जिस पर वह रिटर्न कमा सकेगा।सूत्रों का कहना है कि सरकार ने आखिरी तिमाही के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें बढ़ा दी हैं।लेकिन, इसमें पीपीएफ पर कोई एक्सट्रैड नहीं किया गया।इस उद्देश्य के लिए भी, अधिकारी किसी अन्य तरीके से खरीदारों को लाभ प्रदान कर सकते हैं।

Union Budget 2023 : बजट में पीपीएफ निवेशकों को मिल सकती है खुशखबरी ! ₹3 लाख तक बढ़ जाएगी पीपीएफ लिमिट,पढ़िए खबर !

PPF का आकर्षण और बढ़ेगा

बजट 2023 में पीपीएफ की निवेश सीमा बढ़ाने से हो सकता है फायदा।सबसे पहले तो इस योजना के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ेगा।इतने लंबे समय से यह योजना काफी सफल और अधिकतम सफल रही है।निवेश की सीमा बढ़ने से आकर्षण में उछाल आएगा।दूसरा, जितना अधिक धन जमा किया जाएगा, उतनी ही अधिक जमा राशि बैंकों और सरकार के पास बढ़ेगी।इसके अलावा लिमिट दोगुनी करने से आम जनता को भी दोहरा फायदा हो सकता है।संकल्प भी अधिक होगा और उस पर प्राप्त रुचि भी अधिक होगी।

Budget 2022 : ITI करने वाले छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, बजट में हुई ये घोष

घरेलू वित्तीय बचत के अनुपात में जीडीपी में उछाल आएगा

पीपीएफ शानदार रिटर्न देने वाले करदाताओं के लिए एक अच्छी, सुरक्षित और टैक्स बचत योजना है।पीपीएफ में निवेश की अधिकतम सीमा कई सालों से नहीं बदली है।जानकारों का मानना ​​है कि अगर बजट 2023 में ऐसा होता है तो पीपीएफ में निवेश की सीमा बढ़ने से घरेलू बचत का जीडीपी में अनुपात बढ़ाने में भी मदद मिल सकती है।यह करदाता और सरकार दोनों के लिए फायदे का सौदा हो सकता है।

Budget 2022 : टैक्स को लेकर हुई बड़ी घोषणा, टैक्सपेयर्स को मिलेगी ये सुविधा

PPF बनाएगा करोड़पति

अगर पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश पर तीन लाख रुपये की पाबंदी कर दी जाए तो इससे लोगों को लंबी अवधि के लक्ष्य के लिए पैसा रखने में मदद मिलेगी।साथ ही करोड़पति बनने में भी आसानी होगी।अगर इसमें 20 साल तक हर साल तीन लाख रुपए (PPF Investment) लगाए जाएं तो कोई आम आदमी 20 साल बाद 1.33 करोड़ रुपए का मालिक बन सकता है।फिलहाल पीपीएफ ब्याज दर 7.1 फीसदी है।शौक पर एक केंद्रीय प्राधिकरण आश्वासन है और इसके अतिरिक्त कर छूट भी है।