Business Idea : महज 15000 रूपए खर्च करके शुरू करें ये बिजनेस, लाखों रूपए की होगी कमाई

Business Idea : वर्तमान में देखा जाए तो बिजनेस (Business) करना लोगों की पहली पसंद बनती जा रही है। आखिर हो भी क्यों न देश में बेरोजगारी और महंगाई दोनों बढ़ती ही जा रही है। जिससे हर व्यक्ति परेशान है। अब सवाल ये है कि ऐसा कौन सा बिजनेस (Business) शुरू किया जाए जिसमें कि लागत कम हो और अच्छी कमाई भी हो सके। तो आइए हम आपको देंगे एक अच्छा Business Idea जिसमें आपको अच्छा पैसा मिलेगा।

15000 रूपए खर्च करके शुरू करें बिजनेस

हम आपको एक ऐसा बिजनेस बताने जा रहे हैं जिसमें महज 15000 रूपए आपको खर्च करने होंगे। जिसके बाद आपको 3 लाख रूपए तक का लाभ आसानी से मिल जाएगा। वो भी 15000 रूपए सिर्फ एक बार खर्च करने होंगे। सबसे अच्छी बात तो ये है कि इस बिजनेस में केंद्र सरकार की तरफ से भी मदद की जाएगी। यह बिजनेस है तुलसी की खेती।

बाजार में ज्यादा है तुलसी की डिमांड

दरअसल तुलसी की खेती मेडिसिनल प्लांट के अंतर्गत आती है जिसकी बाजार में भी बहुत डिमांड है। इस खेती को करने के लिए न तो बहुत बड़े खेत की जरूरत पड़ती है और न तो बहुत ज्यादा पैसा खर्च करने की आवश्यकता होती है। इस खेती के लिए यह जरूरी नहीं है कि अपना ही खेत होना चाहिए। आप चाहें तो कॉन्ट्रैक्ट पर भी खेत लेकर इसे कर सकते हैं।

कॉन्ट्रैक्ट पर की जाती है मेडिसिनल प्लांट की खेती

बता दें कि आज के समय में न जाने कितनी ऐसी कंपनियां हैं जो कॉन्ट्रैक्ट पर मेडिसिनल प्लांट की खेती तेजी से करवा रही हैं। इस खेती को करने के लिए आपको थोड़े से पैसों का निवेश करना होता है लेकिन उसके बाद लाखों रूपए की कमाई होती है। तुलसी कई प्रकार की होती है। इसमें यूजीनोल तथा मिथाइल सिनामेट होता है। तुलसी के प्रयोग से कैंसर जैसी घातक बिमारियों की भी दवा बनाई जाती है।

3 महीने बाद मिलते हैं 3 लाख रूपए

यदि आप एक हेक्टेयर खेत में तुलसी का पौधा लगाते हैं तो आपको कुल 15000 रूपए खर्च करने होंगे। तुलसी की फसल लगाने के ठीक 3 महीने के बाद यह 3 लाख रूपए में बिक भी जाती है। यदि आप भी तुलसी की खेती करना चाहते हैं तो ध्यान रहे कि इसके लिए बलुई दोमट मिट्टी सबसे ज्यादा अच्छी मानी जाती है। इस खेती को करने से पहले कुछ महत्वपूर्ण तैयारियां भी करनी होती हैं।

ऐसे करें खेती

जैसे जून से लेकर जुलाई तक के महीने में बीजों के माध्यम से एक नर्सरी तैयार की जाती है। इसके बाद इसे खेत में रोपा जाता है। इस बात का खास ध्यान रहे कि रोपाई के समय लाइन से लाइन की दूरी 60 सेमी तथा पौधे से पौधे के बीच की दूरी 30 सेमी तक रखी जाती है। रोपाई करने के बाद यह फसल 100 दिनों के भीतर तैयार हो जाती है। जिसके बाद इसकी कटाई कर ली जाती है।

गौर फरमाया जाए तो आज के समय में आयुर्वेदिक दवाएं बना रही कंपनियां तेजी से कॉन्ट्रैक्ट पर मेडिसिनल प्लांट की खेती करवा रही हैं। सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि हर नए-नए दाम पर तुलसी के बीज बाजार में बेचे जाते हैं। तो आप भी कम पैसे में इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।