Cyber Fraud: ट्रांजेक्शन में रखेंगे ध्यान तो कभी नहीं होगा फ्रॉड ! जानिए पूरी जानकारी

UPI Fraud: वर्चुअल ट्रांजैक्शन में धोखाधड़ी की घटनाओं के भीतर आई तेजी को देखते हुए देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के वित्तीय संस्थान यानी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट कर दिया है.

SBI Alert for UPI Fraud: भारत में वर्चुअल लेनदेन के पक्ष में भी धोखाधड़ी तेज हो गई है।सरकार की सख्त गाइडलाइंस के बावजूद इंसान लगातार ठगी का शिकार हो रहा है.इसे देखते हुए एसबीआई ने ट्वीट कर लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है।बैंक ने UPI ट्रांजैक्शन को बढ़ाने के लिए कुछ प्रोटेक्शन टिप्स शेयर किए हैं।बैंक ने कहा कि नियमित रूप से साइबर ठग लाटरी का इनाम देकर यूपीआई पिन में आकर लोगों से नगदी ठगते हैं।ऐसी स्थिति में आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।उदाहरण के लिए, कैश लेते समय यूपीआई पिन में किसी भी तरह से चेक न करें।इसके अलावा वित्तीय संस्थान आपसे किसी भी तरह का पिन नहीं मांगता है।

7th Pay Commission DA Hike Date: क्या 28 सितंबर को मोदी सरकार बढ़ाएगी DA, जानिए डीटेल्स

2016 में हुई थी भारत में UPI की शुरुआत

UPI यानी यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस भारत में साल 2016 के अंदर रिलीज हो गया।कई लोगों ने ऑनलाइन भुगतान की इसकी सराहना की।कोविड महामारी के दौरान कई तरह के इंसानों ने इसका पालन किया।अक्टूबर 2019 में पहली बार UPI Payment ने एक अरब लेन-देन की सीमा को पार कर लिया।उसके बाद यह आंकड़ा तेजी से बढ़ा।

ट्रांजैक्शन में 103% की हुई बढ़ोतरी

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के रिकॉर्ड के मुताबिक, यूपीआई ट्रांजैक्शन में साल 2020 के अंदर 103 फीसदी से ज्यादा का उछाल दर्ज किया गया है।12 महीने 2019 में भारत में पूरा UPI ट्रांजैक्शन 2 लाख 2 हजार करोड़ के करीब हो गया।वहीं, साल 2020 में यह बढ़कर चार लाख सोलह हजार करोड़ रुपये हो गया।2020 में, जिसमें ऑनलाइन भुगतान के माध्यम से कोरोना जमा हो गया, मनुष्यों को भी रखा जा सकता है क्योंकि प्रत्येक अधिकतम भुगतान पर कैशबैक प्रदान किया जाता है।

8th Pay Commission 2022 : मुनाफा ही मुनाफा ! 8वें वेतन आयोग पर आया सबसे बड़ा अपडेट! जानिए कब से होगा लागू..

PM Kisan Update 2022 : सावधान ! सरकार ने बंद कर दी ये बड़ी सुविधाएं….!

ऑनलाइन पेमेंट करते समय इन बातों का रखें ध्यान

किसी से भी खाते के भीतर नकद लेने पर भी किसी प्रकार के पिन में जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।आप सतर्क रहना चाहते हैं यदि कोई व्यक्ति आपको पिन में जाने के लिए देख रहा है, तो आपका खाता खाली हो सकता है।
किसी भी UPI के माध्यम से पैसे भेजने की सहायता से पैसे को क्रॉस कन्फर्म करें।यह अब आपके कैश को गलत खाते में नहीं बदलेगा।इसके साथ ही किसी भी सूरत में किसी अनजान व्यक्ति की रिक्वेस्ट न दें।अब अपना यूपीआई पिन किसी के साथ प्रतिशत न करें।इसके साथ ही अपना यूपीआई पिन समय-समय पर बदलते रहें।इससे आपका UPI ट्रांजैक्शन सुरक्षित हो सकता है।टेलीसेल्स स्मार्टफोन को हमेशा लॉक रखें।इसके साथ ही एक दो UPI के इस्तेमाल से भी दूर रहें।

ध्यान रखने वाली बातें

धोखाधड़ी के मामले में बिना देर किए पुलिस को बताएं।
आप टोल फ्री नम्बर पर भी दर्ज सकते हैं।
आस-पास की पुलिस और प्रधान सरकार के नेट पोर्टल पर आलोचना करें।

PM Mudra Yojana: मुद्रा योजना के तहत अब सरकार देगी 50 हजार से 10 लाख तक का लोन, जानिए पूरी अपडेट