EPF Balance Update: नॉमिनी नहीं होने पर भी परिवार को मिलेगा पैसा, बस रकम पाने के लिए बेलने होंगे पापड़, जानिए तरीका।

EPF claim- अगर किसी ईपीएफ सब्सक्राइबर की मृत्यु नॉमिनी को आगे बढ़ाए बिना हो जाती है, तो उसके अपने रिश्तेदारों की मंडली उसके खाते में नकद जमा करवा सकती है।इसके लिए बस ऑफिस का थोड़ा सा काम करना होगा।परेशानी से बचने के लिए ही नॉमिनेशन (EPF Nomination) करने की बात कही जाती है।

Epfo update:कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) खाताधारकों को सलाह देता है कि वे अपने ईपीएफ खाते के नामांकित व्यक्तियों का दावा करें। नॉमिनी होने पर ईपीएफ क्लेम कराने में परेशानी नहीं होगी और पैसा उसी को दिया जाता है, जिसे खाताधारक देना चाहता है।इसलिए EPF Subscriber के लिए नॉमिनेशन करना काफी फायदेमंद होता है।अब EPFO ​​नॉन नॉमिनेशन सब्सक्राइबर्स के कुछ सेंटर्स को भी बंद कर देता है।

ऐसा भी नहीं है कि अगर किसी ने नॉमिनेशन नहीं किया है तो ईपीएफ खाताधारक की मृत्यु के बाद उसके अपने परिवार के सदस्य अपना पैसा नहीं निकाल सकते हैं।यहां तक ​​कि अगर एक ग्राहक ने अब अपने नामांकित व्यक्ति की घोषणा नहीं की है, तो उसके परिवार के सदस्य फॉर्म 20 भरकर घोषणा कर सकते हैं।

EPF Balance Update

EPFO New Alert 2023 : पीएफ कर्मचारियों की जागी किस्मत ! अकाउंट में क्रेडिट होने जा रहा ब्याज का पैसा, इस तारीख को !

कैश किसे मिलता है

यदि किसी ईपीएफ खाताधारक की मृत्यु नामांकन किए बिना हो जाती है, तो नकदी निकालने के लिए स्वयं के रिश्तेदारों के सर्कल को फॉर्म 20 भरने की आवश्यकता होती है।ईपीएफओ का नियम है कि अगर सब्सक्राइबर ने अब नॉमिनेशन नहीं किया है और उसकी मौत हो जाती है तो ईपीएफ में जमा रकम उसी तरह अपने परिवार के सदस्यों को भेजी जाती है।

EPFO Monthly Pension 23 : बड़े काम की है eps 95 स्कीम, क्योंकि हर महीने मिलेंगे 3000 रुपए,पढ़िए खबर !

EPFO इन्‍हें मानता है पारिवारिक सदस्‍य

पारिवारिक योगदानकर्ताओं में पति/पत्नी, बच्चे (विवाहित या अविवाहित), आधारित अभिभावक, ग्राहक के महिला होने की स्थिति में उसके पति के आधार पर अभिभावक, ग्राहक के बेटे की विधवा और उसके बच्चे शामिल हैं।

EPFO Alert: करोड़ों नौकरीपेशा के ल‍िए EPF की चेतावनी, नजरअंदाज करने वालों को पड़ जाएगी भारी।

फॉर्म 20 भरना होगा

ईपीएफ खाताधारक के अपने रिश्तेदारों के सर्कल को कैश प्राप्त करने के लिए फॉर्म 20 भरना होता है।इसमें स्वयं के परिवार के योगदानकर्ताओं के नाम, जो धन प्राप्त करने के हकदार हैं, देना होगा।संगठन लगभग अपने परिवार के योगदानकर्ताओं का रिकॉर्ड वितरित करेगा जिसमें ईपीएफ ग्राहक काम करते थे।यदि किसी कारण से संस्था यह रिकॉर्ड पेश नहीं कर सकती है तो अपने परिवार के योगदानकर्ताओं की सूची को कार्यकारी मजिस्ट्रेट के माध्यम से लाइसेंस प्राप्त करना होगा और प्रस्तुत करना होगा।फॉर्म 20 के साथ डेथ सर्टिफिकेट और कैंसिल टेस्ट की फोटोकॉपी भी लगानी होगी।

EPFO Alert: करोड़ों नौकरीपेशा के ल‍िए EPF की चेतावनी, नजरअंदाज करने वालों को पड़ जाएगी भारी।

अगर वसीयत है तो लगेगा ज्‍यादा समय

अगर सब्सक्राइबर ने वसीयत की है तो उसे क्लेम मिलने में ज्यादा समय लग सकता है।यह इस तथ्य के कारण होता है कि इच्छा के उत्तराधिकार प्रमाण पत्र देने की आवश्यकता होती है।ऐसा एहतियात के तौर पर किया जाता है ताकि भविष्य में कोई और इस तरह का दावा न कर सके।इसकी रिसर्च में समय लगता है जिससे क्लेम देर से मिलता है।