EPF Pension Rule Alert 23 : पेंशन नियमों में हो सकता है बड़ा बदलाव, जिससे 6 करोड़ लोगों को मिलेगा सीधा लाभ !

EPF Pension Rule Alert 23 :- एम्पलाई पेंशन स्कीम की अप्पर लिमिट को लेकर सीबीटी ने अपनी सिफारिश सरकार को सौंप दी है जिसके बाद आने वाले दिनों में पेंशन की रकम बढ़ सकती है चुकी ईपीएफओ पे स्केल के आधार पर कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत 21000 हायर पे स्केल के साथ लिंक करने जा रहा है इससे उन कर्मचारियों को डबल फायदा मिलेगा जिसकी महीने की सैलरी ₹21000 तक है.वर्तमान में मौजूदा नियम के मुताबिक e-pension में अधिकतम ₹15000 की बेसिक सैलरी पर पेंशन बनती है.इससे पेंशन फंड में हर महीने अधिकतम 12 सो ₹50 ही जमा हो सकते हैं। बता देगी अगर इसे बदला जाता है तो यह लिमिट बढ़कर ₹21000 हो सकती है, लेकिन इपीएस पेंशन को लेकर नियम पूरी तरीके से अलग है.

EPF Pension Rule Alert 23

EPF Pension Rule Alert 23
EPF Pension Rule Alert 23

क्या आप कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की पेंशन योजना का लाभ ले रहे हैं,? तो कर्मचारियों पेंशनरों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है,चुकीं केंद्र सरकार की ओर से जल्दी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की पेंशन योजना की वेतन सीमा को बढ़ाने का प्रावधान है, ऐसे में ईपीएफओ पे स्केल को कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत 21000 पे स्केल के साथ लिंक करने जा रहा है, इससे उन कर्मचारियों को फायदा मिलेगा, जिनकी महीने की सैलरी ₹21000 तक है.

चुकी वर्तमान में कर्मचारियों को ईपीएफ योजना से सेवानिवृत्ति बचत योजना के लिए ₹15000 प्रति महीने है, अब इसे बढ़ाकर ₹1000 के जाने की तैयारी है, ऐसे में देश के 7500000 कर्मचारी ईपीएफओ के इस नए स्कीम के दायरे में आ जाएंगे आ सकेंगे, चुकी अब इनकी संख्या 6.8 है तो वेतन सीमा को आखिरी बार 2014 में 6500 रूपए प्रति महीने से बढ़ाया गया था।

क्या कहता है ईपीएफओ का नियम ?

ईपीएफओ के नियमानुसार, बच्चे की शादी हो या उच्च शिक्षा इच्छा हो साथी मकान खरीदने की ख्वाहिश ही क्यों ना हो आंशिक निकासी की जा सकती है, ऐसे में नौकरी छोड़ने के मात्र 1 महीने के बाद ही ईपीएफओ सदस्य 75 फ़ीसदी रकम निकाल सकता है, इसके 2 महीने बाद बचा हुआ 25 फ़ीसदी हिस्सा भी निकाला जा सकता है, बता दें कि पहले नौकरी छोड़ने या बेरोजगार होने की स्थिति में 2 महीने बाद ही पीएफ निकाला जा सकता था !

ईपीएफओ संभाले तो पेंशन का बेड़ा गर्त !

इंफोर्समेंट ऑफिसर भानु प्रताप शर्मा के मुताबिक अगर आप अपना प्रोविडेंट फंड एक खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर करते हैं, तो आपकी चाहे जितनी भी सर्विस हिस्ट्री हो, आप पेंशन की रकम को कभी भी किसी हालत में नहीं निकाल पाएंगे, क्योंकि देखा जाए तो पैसे ट्रांसफर किए हुए खाते में से केवल पीएफ की रकम ही ट्रांसफर होती है, जिसके जरिए आप जिसके बाद आप पीएफ का पैसा निकाल सकते हैं,

अब ऐसे में पीएफ की पेंशन की रकम को आपकी सर्विस हिस्ट्री के साथ जोड़ दिया जाता है। मतलब यह हुआ अगर अलग-अलग जगह नौकरी करते हुए भी आपकी सर्विस हिस्ट्री 10 साल की हो जाती है, तो उस स्थिति में आप पेंशन पाने के हकदार हो जाएंगे, अब आपके दिमाग में यह प्रश्न आ रहा होगा कि 58 साल की उम्र में आपको मासिक पेंशन की कितनी राशि मिलेगी,इस खबर को जानने के लिए हमारी अगली स्लाइड जरूर पढ़ें !

Conclusion :- उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको आज का आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा, ऐसे ही फाइनेंस से संबंधित ट्रेंडिंग आर्टिकल्स के लिए हमारी वेबसाइट को लगातार विजिट करते रहे और अपने प्यारे प्यारे सवाल हमें कमेंट करना ना भूलें, धन्यवाद !