EPFO Alert: करोड़ों नौकरीपेशा के ल‍िए EPF की चेतावनी, नजरअंदाज करने वालों को पड़ जाएगी भारी।

EPFO Alert: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के जरिए जिन कर्मियों का पीएफ काटा गया है उनके लिए अलर्ट जारी किया गया है। यह अलर्ट पिछले कुछ दिनों में ईपीएफओ के कॉल में कई फ्रॉड सामने आने के बाद जारी किया गया है।

EPFO Alert: अगर आप भी नौकरीपेशा हैं तो आपके लिए EPFO ​​के जरिए अलर्ट जारी किया गया है.इसके लिए, यह महत्वपूर्ण नहीं है कि आप केंद्रीय प्राधिकरण कर्मचारी हैं या गैर-सार्वजनिक कंपनी में काम करते हैं।ईपीएफओ का सदस्य होने का मतलब है कि हर महीने आपका पीएफ कटता है।कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के जरिए जिन कर्मियों का पीएफ काटा गया है उनके लिए अलर्ट जारी किया गया है।यह अलर्ट पिछले कुछ दिनों में ईपीएफओ के कॉल में कई फ्रॉड सामने आने के बाद जारी किया गया है।

EPFO Alert

व्‍यक्‍त‍िगत जानकारी नहीं मांगता EPFO

ईपीएफओ की ओर से पिछले दिनों भी इस तरह के संकेत जारी किए गए थे, लेकिन पिछले कुछ दिनों में धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढ़े हैं।ईपीएफओ की ओर से ट्वीट कर बताया गया कि ईपीएफओ कभी भी फोन, सोशल मीडिया, व्हाट्सएप आदि के जरिए अपने प्रतिभागियों से पैन, आधार, यूएएन, बैंक खाता और ऑप्ट जैसी निजी जानकारी नहीं मांगता है।

EPFO News 81k : ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स के खाते में होंगी धन की बारिश ! जल्द धमकेंगे 81000, पढ़िए खबर !

EPFO SSA Benefits 2023 : छटनी के बीच विदेश में काम कर रहे भारतीय जान ले,ईपीएफओ एसएसए को मिलने जा रहे हैं,ये फायदे !

अब कॉल या व्हाट्सएप कॉल का समाधान न करें

ईपीएफओ की ओर से चेतावनी दी गई कि ईपीएफओ सोशल मीडिया, व्हाट्सएप आदि के माध्यम से किसी भी सेवा से जुड़े मामलों या किसी अन्य चीज के लिए किसी भी तरह का पैसा जमा करने के लिए नहीं कहता है।ऐसे में सभी प्रतिभागियों को सलाह दी जाती है कि अब इस तरह के नाम या व्हाट्सएप कॉल का जवाब न दें।

EPFO SSA Benefits 2023 : छटनी के बीच विदेश में काम कर रहे भारतीय जान ले,ईपीएफओ एसएसए को मिलने जा रहे हैं,ये फायदे !

EPFO: इस तरह घर बैठे चेक करें पीएफ खाते का बैलेंस, जानें UAN नंबर एक्टिवेट करने का प्रोसेस.

दो ह‍िस्‍सों में जमा होता है न‍ियोक्‍ता का शेयर

ईपीएफओ प्रतिभागियों के साधारण लाभ और महंगाई भत्ते का 12 प्रतिशत ईपीएफओ खाते में जमा किया जाता है। इसी तरह, साधारण लाभ का 12 प्रतिशत नियोक्ता के माध्यम से भुगतान किया जाना चाहिए।इस 12 प्रतिशत पर तत्व हैं।12 प्रतिशत में से 8.33 प्रतिशत का प्राथमिक हिस्सा कर्मचारी पेंशन खाते (ईपीएस) में जा रहा है और अंतिम 3.67 प्रतिशत राशि ईपीएफ खाते में जा रही है।कर्मचारी को यह राशि सेवानिवृत्ति पर मिलने का प्रावधान है।लेकिन नौकरी के दौरान भी आप चाहें तो इसे खत्म कर सकते हैं।