EPFO Alert: 6 करोड़ से अधिक लोगों के लिए Alert, EPFO कभी नहीं करता ये काम।

EPFO update: ईपीएफओ ने अपने करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट किया है.उनसे अनुरोध किया गया कि वे फर्जी कॉल और एसएमएस से सावधान रहें।कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) एक सेवानिवृत्ति योजना है।कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) इसका प्रबंधन करता है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने छह करोड़ से ज्यादा लोगों को अलर्ट किया है।ईपीएफओ पीएफ के रूप में काटे गए कर्मियों की संख्या का प्रबंधन करता है।अगर आप भी ईपीएफओ के सदस्य हैं तो यह आपके लिए बेहद जरूरी जानकारी है।ईपीएफओ ने साइबर क्राइम को लेकर अपने लोगों को अलर्ट किया है।ईपीएफओ के आह्वान पर साइबर अपराधी ठगी करना चाह रहे हैं।वे लोगों को कॉल कर उनकी निजी जानकारी मांग रहे हैं।

EPFO Alert

EPFO: इस तरह घर बैठे चेक करें पीएफ खाते का बैलेंस, जानें UAN नंबर एक्टिवेट करने का प्रोसेस.

EPFO नहीं करता ये काम

ईपीएफओ ने ट्वीट कर लिखा- ‘फर्जी कॉल और एसएमएस से सावधान रहें।ईपीएफओ किसी भी तरह से अपने प्रतिभागियों को फोन, इलेक्ट्रॉनिक मेल या सोशल मीडिया पर गैर-सार्वजनिक जानकारी साझा करने के लिए नहीं कहता है।ईपीएफओ और उसके कर्मी किसी भी तरह से इस तरह की जानकारी नहीं मांगते हैं।ईपीएफओ ने अपने प्रतिभागियों को सलाह दी है कि अब वे अपना यूएएन, पैन, पासवर्ड, बैंक खाते की जानकारी, ओटीपी, आधार और आर्थिक जानकारी किसी के साथ साझा न करें।

EPFO Tips: जरूरत के समय बड़ा काम आ सकता है आपका पीएफ खाता, जानें कैसे और कितनी बार निकाल सकते हैं एडवांस पैसे।

क्या है EPF?

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) एक सेवानिवृत्ति योजना है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) इसका प्रबंधन करता है।ईपीएफ योजना में कर्मचारी और उसका व्यवसाय हर महीने एक समान राशि का योगदान करते हैं।यह कर्मचारी के मौलिक राजस्व का 12 प्रतिशत है।सरकार ने इस वित्त वर्ष के लिए ईपीएफ जमा पर 8.1 फीसदी ब्याज दर तय की है।

ब्याज का चार्ज कितना है?

सरकार ने अंतिम मार्च में पीएफ खाते में जमा पर ब्याज दर 8.5 फीसदी से घटाकर 8.1 फीसदी कर दी थी।यह लगभग चालीस वर्षों में सबसे कम चार्ज है।1977-78 में ईपीएफओ ने ब्याज दर आठ फीसदी के हिसाब से तय की थी।लेकिन तब से यह लगातार 8.25 प्रतिशत या अधिक के हिसाब से रहा है।किसी कर्मचारी की सैलरी पर 12 फीसदी की कटौती ईपीएफ अकाउंट के लिए होती है. एम्प्लॉयर की तरफ से एंप्लाई की सैलरी में की गई कटौती का 8.33 फीसदी ईपीएस कर्मचारी पेंशन योजना में, जबकि 3.67 फीसदी ईपीएफ में पहुंचता है|