EPFO: विदेश में काम कर रहे हैं तो पहले जान लें ईपीएफ की ये बड़ी सुविधा, इसमें मिल रही सामाजिक सुरक्षा।

EPFO: विदेशों में काम करने वाले लोगों के लिए ईपीएफओ के इस्तेमाल की अनूठी सुविधा दी जा रही है,इसके तहत दोनों देशों के बीच एक समझौता किया गया है, वह है सोशल सिक्योरिटी एग्रीमेंट, इसे यहां संक्षेप में समझें।

EPFO: अगर आप विदेश में काम कर रहे हैं तो आपको कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ की एक फैसिलिटी के बारे में जरूर जानना चाहिए।यह सुविधा सामाजिक सुरक्षा समझौता है।इसके तहत विदेशों में काम करने वाले लाखों-करोड़ों भारतीयों को कई सुविधाएं मिलती हैं।इस समय पूरी दुनिया में छंटनी का दौर चल रहा है।अमेरिका और अखाड़े की कई एजेंसियां ​​अपनी लागत कम करने के लिए छँटनी कर रही हैं।ऐसे में कई बार भारतीय जवान भी इसकी चपेट में आ रहे हैं और उन्हें नौकरी से निकाला भी जा रहा है.अगर आपके साथ या आपके किसी परिचित के साथ ऐसा कुछ हुआ है तो आपको ईपीएफओ की सोशल सिक्योरिटी एग्रीमेंट सुविधा के बारे में जरूर पता होना चाहिए।

PM Kisan 13th Installment Update : 25 दिसंबर को आएगी 13वीं किस्त,सरकार ने जारी किया अलर्ट, पढ़िए खबर !

PPF vs NPS: जानिए कैसे आप PPF और NPS में निवेश कर सकते है, सबको मिलेगा फायदा

SSA के तहत मिलते हैं ये फायदे

सोशल सिक्योरिटी एग्रीमेंट (SSA) हमें होस्ट करने के लिए A की ओर से IW के लिए फिटनेस उपाय की समानता की पेशकश करेगा।एक ऐसे देश में काम करने वाले अंतर्राष्ट्रीय लोग जिन्होंने अपने घरेलू यूएस के साथ एक सामाजिक सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, उन्हें ए के मेजबान के भीतर सामाजिक सुरक्षा मशीन में योगदान करने की आवश्यकता नहीं है।इसमें, लाभार्थी के घर के क्षेत्र में रहने का विकल्प चुनने वाले लाभार्थी के लिए विश्वव्यापी कर्मचारी के साथ-साथ तीसरे देश में रहने का विकल्प चुनने वाले लाभार्थी के लिए बिना किसी कटौती के तुरंत पेंशन लाभ की कीमत का प्रावधान हो सकता है।पेंशन के लिए पात्रता तय करने के लिए एसएसए में प्रदान की गई सेवा को भारत में प्रदान किए गए वाहक के साथ जोड़ा जा सकता है।

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को जल्द मिल सकता है बड़ा लाभ, मिलेगा 18 माह का बकाया डीए एरियर।

EPF Pension: पेंशन योजना में बड़ा बदलाव, 6 करोड़ लोगों को मिलेगा सीधा फायदा.

क्या है सोशल सिक्योरिटी समझौता?

बता दें कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ ने 19 देशों के साथ सामाजिक सुरक्षा समझौता किया है।इन अंतरराष्ट्रीय स्थानों में बेल्जियम, जर्मनी, स्विट्जरलैंड, डेनमार्क, फ्रांस, लक्समबर्ग, दक्षिण कोरिया जैसे कई देशों के नाम शामिल हैं।यह सामाजिक सुरक्षा समझौता भारत और कुछ अन्य देशों के बीच एक द्विपक्षीय समझौता है।इस समझौते के तहत विभिन्न अंतरराष्ट्रीय स्थानों में प्रकाशित लोगों के सामाजिक सुरक्षा बीमा की निरंतरता सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।यह एक ऐसी बस्ती है, जो सीमा पर सक्रिय मानवों के शौक को सुरक्षित करती है।