EPFO News: ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स की बढ़ेगी Pension! सरकार ने दिया बड़ा बयान.

EPFO News, Finance Minister: ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स के लिए बड़ी खबर है।एक संसदीय समिति वित्त मंत्रालय से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के अंशधारकों की पेंशन मौजूदा दिन से बढ़ाकर 1,000 रुपये प्रति माह करने की श्रम मंत्रालय की धारणा को खारिज करने के सबूत तलाशने की कोशिश कर रही है।

EPFO News: ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स के लिए जरूरी सूचना।कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के सब्सक्राइबर्स के लिए सरकार ने एक अहम ऐलान किया है।हालांकि यह खबर आपको निराश भी कर सकती है।दरअसल, सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के सब्सक्राइबर्स की पेंशन बढ़ाने की धारणा को खारिज कर दिया है।इसके बाद एक संसदीय समिति वित्त मंत्रालय से श्रम मंत्रालय की पेंशन को 1,000 रुपये से बढ़ाकर महीने के हिसाब से करने की धारणा को खारिज करने का सबूत तलाशने की कोशिश कर रही है

EPFO News

EPFO सब्सक्राइबर्स को लगा झटका

श्रम मंत्रालय और ईपीएफओ के शीर्ष अधिकारियों ने गुरुवार को बीजेडी सांसद भर्तृहरि महताब का उपयोग कर ईपीएफ पेंशन योजना के संचालन और इसके फंड के नियंत्रण के बारे में श्रम संबंधी संसदीय स्थायी समिति को जानकारी दी। अधिकारियों ने समिति को बताया कि वित्त मंत्रालय मासिक पेंशन में किसी भी उछाल के लिए कड़ी मेहनत मंत्रालय की प्रेरणा से सहमत नहीं था।इसके बाद समिति ने अब इस मामले में वित्त मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों को बुलाकर स्पष्टीकरण मांगने का फैसला किया है।दरअसल, समिति ने अपने रिकॉर्ड में सदस्य/विधवा/विधुर पेंशनधारियों को मिलने वाली न्यूनतम मासिक पेंशन को कम से कम 2,000 रुपये के रूप में बढ़ाने की वकालत की थी समिति ने बढ़ती महंगाई को देखते हुए यह प्रेरणा दी थी।

पेंशन योजना में बदलाव

गौरतलब है कि ईपीएफओ छह महीने से कम समय में सेवानिवृत्त होने वाले कर्मियों के लिए कर्मचारी पेंशन योजना 1995 (EPS-95) के तहत जमा राशि निकालने पर सहमत हो गया है।अभी तक, कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) के सदस्यों को कर्मचारी भविष्य निधि खाते से जमा राशि निकालने की अनुमति केवल तभी दी जाती है, जब उनकी समापन सेवा छह महीने से कम हो।इस चयन के तरीके से अब ईपीएफओ के अंशधारक पेंशन फंड से भी पैसा निकाल सकेंगे।