EPFO Update 2022 :जल्द ही हो सकता है बड़ा बदलाव, दुकानदारों को भी मिलेगी पेंशन

EPFO Update 2022 :15,000 रुपये की आय सीमा को खत्म करने के लिए ईपीएफ सुधार के लिए तैयार है।इस बदलाव के बाद सभी लोग EPFO ​​स्कीम का हिस्सा बन सकेंगे। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) एक महत्वपूर्ण धारणा पर चल रहा है।ईपीएफओ उद्यम के भीतर कर्मचारियों की कमाई और सीमा को खत्म करने के सुझाव पर विचार कर रहा है।इस धारणा को सभी प्रकार के औपचारिक कर्मियों और स्व-किराए पर रखे गए मनुष्यों के लिए लागू करने पर विचार किया जा रहा है।

EPFO Interest : पीएफ कर्मचारियों के लिए आई बंपर खुशखबरी, खाते में इस दिन भेजे जाएंगे 56000 रूपए

EPFO Update

EPFO Latest News 2022: सावधान! PF के पैसे जमा नहीं होने पर घबराएं नहीं, ऐसे करें अपनी शिकायत


कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम,1952

यह दृष्टिकोण कि मनुष्य जिनकी आय 15,000 रुपये से बहुत कम है और एक उद्यम जिसमें वास्तव में 20 कर्मचारी नहीं हैं, को भी ईपीएफओ की सेवानिवृत्ति योजना के भीतर कंबल दिया जा सकता है।इस नए प्रस्ताव को लागू करने के लिए ईपीएफओ असाधारण पार्टियों से बात कर रहा है और सरकारों से भी बात की गई है। फिलहाल 15,000 रुपये के मुनाफे वाले इंसान ईपीएफओ योजना का लाभ ले सकते हैं।साथ ही जिस व्यावसायिक उद्यम में कम से कम 20 कर्मचारी हों, वही व्यावसायिक उद्यम अपने कर्मियों को EPFO ​​योजना में अपलोड कर सकता है।कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम,1952 में संभवत: 15,000 रुपये और 20 कर्मियों के मुनाफे की सीमा को खत्म करने के लिए सुधार किया जाना है।इस बदलाव के बाद सेल्फ डिपेंड वाले इंसान भी ईपीएफओ स्कीम का हिस्सा बन सकेंगे।

दिशानिर्देश को समाप्त किया जा सकता है

एक बार ईपीएफओ के नियमों के भीतर यह संशोधन हो जाने के बाद, लाभ के अंगूठे और कर्मियों की अनिवार्य मात्रा के दिशानिर्देश को समाप्त किया जा सकता है।फिर कोई भी व्यवसायिक उद्यम जिसकी कोई कमाई या मुनाफा और कितनी भी मात्रा हो, EPFO ​​का हिस्सा हो सकता है।फिलहाल ईपीएफओ की सेवानिवृत्ति योजना का लाभ उसी कर्मचारी या कर्मचारी को मिलना है, जिसका मुनाफा 15,000 रुपये से अधिक है।ईपीएफओ अपने सदस्यों को भविष्य निधि, पेंशन और कवरेज की शक्ति प्रस्तुत करता है।इन केंद्रों की आपूर्ति ईपीएफ, कर्मचारी पेंशन योजना और कर्मचारी डिपो के तहत की जाती हैवहीं, एक समिति ने ईपीएफ की राजस्व सीमा 15,000 रुपये से बढ़ाकर 21,000 रुपये करने की चेतावनी दी है।

मौजूदा नियमों के मुताबिक !

मौजूदा नियमों के मुताबिक ईपीएफओ का हिस्सा साधारण व्यक्ति ही हो सकता है, जिसका राजस्व 15,000 रुपये तक है।नियम कहता है कि कंपनी की ओर से 15,000 रुपये के मासिक राजस्व वाले कर्मचारी को ईपीएफ योजना का लाभ देना मीलों महत्वपूर्ण है।यदि समिति की सलाह मान ली जाती है, तो राजस्व सीमा 21,000 रुपये हो सकती है।इससे पहले 2014 में राजस्व सीमा बढ़ाई गई थी।ईपीएफ वर्ष 1952 में जुड़ गया और नौवीं वृद्धि 2014 में अंतिम रूप से की गई।

EPFO Latest update: पीएफ खाताधारक होने वाले हैं अमीर, इस दिन खाते में आएंगे 64,000 रुपये, जल्द चेक करें

EPF में जमा किया गया कैश रिटायरमेंट सुविधाओं के लिए है

EPF में जमा किया गया कैश रिटायरमेंट सुविधाओं के लिए है।लेकिन नकारात्मक परिस्थितियों या मुश्किल से सकारात्मक परिस्थितियों में पीएफ से पैसा निकाला जा सकता है।कोरोना काल में सरकार ने पीएफ से बढ़ा हुआ पैसा निकालने की अनुमति दी थी।21,000 रुपये की सीमा तय होते ही अमेरिका के करीब पचहत्तर लाख कर्मचारी पीएफ के दायरे में आ जाएंगे।वर्तमान में ईपीएफ का लाभ 6.80 करोड़ लोगों को दिया जाता है।लेकिन अगर ईपीएफओ वेतन सीमा के अंगूठे के दिशानिर्देश को हटा देता है, तो चलने वाले

EPFO Pension: हर महीने मिलेगी पेंशन, कर्मचारी भविष्य निधि योजना में करें ऑनलाइन आवेदन