Free Ration: राशन कार्डधारकों की बढ़ी मुसीबत, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

Free Ration : केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने कोरोना काल (Corona) में फ्री राशन (Free Ration) देकर लोगों की आर्थिक मदद की जिसका बड़े स्तर पर असर भी देखने को मिला। इसी दौरान सरकार की ओर से राशन कार्ड धारकों को बड़ा झटका लगा है। अगर आप भी राशन कार्ड धारक हैं तो यह खबर आपके लिए है, जो सदमें वाली साबित होगी।

राशन कार्ड धारकों को बड़ा झटका

बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रत्येक राशन कार्ड धारक को फ्री राशन वितरण के तहत लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति 5 किलो राशन दिया जाता है, जिसमें 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल का वितरण किया जाता है। इस दौरान राशन वितरण को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है।

Free Ration : अब ऐसे लोगों को अपना राशन कार्ड करना होगा सरेंडर, आपको भेजा जाएगा जेल

Free Ration

बताया जा रहा है कि सरकार इस बार भी गेहूं की जगह चावल बांट सकती है। सरकार ने आधिकारिक तौर पर इस का ऐलान भी कर दिया है।

Ration Card : अब पूरे देश में इस सुविधा का लाभ उठाएंगे राशन कार्ड धारक, आया बड़ा अपडेट

इसलिए सरकार ने लिया फैसला

ऐसा माना जा रहा है कि गेंहू का उत्पादन कम होने की वजह से सरकार को यह फैसला लेना पड़ा। इस बार गेंहू की जगह चावल वितरण किया जाएगा।नए आदेश के अनुसार, इस बार राशनकार्ड धारकों को गेहूं नहीं दिया जाएगा। बता दें कि 19-30 जून 2022 तक फ्री राशन वितरण योजना के तहत लाभार्थियों को गेंहू की जगह 5 किलो चावल वितरित किया गया।

Ration Card Update : सरकार ने गेहूं तथा चावल के वितरण को लेकर किया ये बड़ा ऐलान, जनता की बढ़ी परेशानी

खाद्य व रसद विभाग से आदेश जारी

दरअसल, खाद्य व रसद विभाग के आयुक्त की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, इस बार गेहूं की जगह लाभार्थियों को सिर्फ 5 किलो चावल का वितरण किया गया है। सरकार ने उत्तर प्रदेश के साथ ही कई राज्यों में गेहूं के कोटे को कम करने का फैसला किया और आगे भी सरकार गेहूं की जगह चावल का आवंटन कर सकती है।

Ration Card : राशन तौल में कोटेदार अब नहीं कर पाएंगे धोखाधड़ी, बनाए गए ये नए नियम

कोटे में गेहूं की मात्रा कम करने पर भी विचार

गौरतलब है कि गेहूं की कम खरीद होने की वजह से सरकार ने यह निर्णय लिया है और राशन के कोटे में गेहूं की मात्रा कम करने पर भी सरकार एक बार फिर विचार कर सकती है। इससे पहले भी सरकार ने फ्री राशन से गेहूं की जगह चावल का आवंटन किया था।

बता दें कि ये संशोधन केवल प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लिए किया जा रहा है। सरकार ने गेहूं की जगह पर लगभग 55 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आवंटन किया था।

गरीबों के खिल उठेचेहरे

कोरोना महामारी के दौरान जब देश आर्थिक तंगी से जूझ रहा था, तब सरकार की ओर से शुरू हुई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में मुफ्त राशन वितरण से गरीबों के चेहरों पर मुस्कान आई। कार्ड धारकों को माह में दो बार गेहूं व चावल दिया जा रहा है। फ्री राशन का झोला पाकर गरीबों के चेहरे खिल उठे हैं। योजना के तहत अंत्योदय कार्ड पर 20 किलो गेहूं व 15 किलो चावल दिया जाता है। जबकि पात्र गृहस्थी को प्रति यूनिट 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल के साथ एक किलो तेल, एक किलो चना व एक किलो नमक दिया जा रहा है।

Leave a Comment