Government Scheme : योगी सरकार देने जा रही है यूपी के करोड़ों श्रमिकों को ये बड़ा तोहफा

Government Scheme : यूपी (UP) की सत्ता में दोबारा काबिज होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को एक बड़ा तोहफा देने का निर्णय लिया है। योगी सरकार असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों (Workers) को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ प्रदान करने की तैयारी में जुट गई है। वहीं श्रम विभाग (Labour Department) ने भी इसे 100 दिन की कार्य योजना में शामिल कर दिया है। बहुत जल्द इस योजना का श्रमिकों को लाभ मिलेगा।

श्रमिकों को मिलेगा 5 लाख रूपए तक का मुफ्त इलाज

योगी सरकार के इस फैसले से असंगठित क्षेत्र के करोड़ों लोगों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत 5 लाख रूपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी। योगी सरकार में इस प्रक्रिया को प्राथमिकता के तौर पर जल्द ही पूरा किया जाएगा। वहीं श्रम विभाग ने भी इसे 100 दिन की कार्य योजना में शामिल कर लिया है तथा इस योजना की पहल तेज कर दी है।

योगी सरकार के पिछले कार्यकाल में शुरू हुई थी योजना

बताते चलें कि योगी सरकार ने केंद्र की आयुष्मान भारत योजना के तहत अपने पिछले कार्यकाल के दौरान ही मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना प्रारंभ कर दी थी। इसके तहत उन लोगों को लाभ प्रदान करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई थी जो आयुष्मान भारत योजना के लाभ से वंचित रह गए थे। इस योजना को सफलतापूर्वक संचालित करने के लिए श्रम विभाग के अपर मुख्य सचिव सुरेश चंद्रा ने 20 अक्टूबर वर्ष 2021 में ही शासनादेश भी जारी कर दिया था।

इतने श्रमिकों का हो चुका है पंजीकरण

जहां एक तरफ केंद्र सरकार के ई श्रम पोर्टल पर प्रदेश के 8 करोड़ 26 लाख मजदूरों का पंजीकरण कर दिया गया है तो वहीं श्रम विभाग के पोर्टल पर 79 लाख 215 मजदूरों का पंजीकरण कर दिया गया है। जो कि पूरे देश में सबसे अधिक संख्या है। वहीं सांचीज को पोर्टल पर उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड ने मजदूरों का संपूर्ण डाटा प्रदान किया है।

वहीं श्रमिकों के इस डाटा को सांचीज ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) को सौंप दिया है। जिससे कि किसी भी प्रकार का दोहराव न हो सके। इसी प्रकार ई श्रम पोर्टल पर पंजीकृत श्रमिकों के डाटा की भी जांच करवाई जाएगी। बोर्ड के माध्यम से श्रमिकों को इस योजना का लाभ प्रदान करने के लिए 1100 रूपए प्रत्येक श्रमिक के हिसाब से प्रीमियम राशि सांचीज को प्रदान की जाएगी। गौरतलब है कि श्रमिकों को आयुष्मान योजना का लाभ प्रदान करने के लिए पहले ही इसकी पहल तेज कर दी गई थी।

Leave a Comment