Government Scheme : किसानों के खाते में सरकार जल्द भेजेगी 7000 रूपए, जल्दी से पूरा करें ये काम

Government Scheme : वैसे तो सरकार (Government) देश के किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए विभिन्न प्रकार की योजनाएं (Scheme) चला रही है। लेकिन सरकार के द्वारा किसानों के लिए एक और योजना (Scheme) की शुरूआत कर दी गई है। इस योजना का नाम मेरा पानी मेरी विरासत योजना है। किसानों के खाते में सरकार अब 7000 रूपए भेजेगी। इस योजना की शुरूआत हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के किसानों के लिए शुरू कर दी है।

किसानों के खाते में जल्द भेजे जाएंगे 7000 रूपए

बताते चलें कि विगत दिनों पहले ही देश के किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojana) के तहत  11वीं किस्त की राशि केंद्र सरकार (Central Government) के द्वारा दी जा चुकी है। वहीं अब किसान 12वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे में एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है जिसके तहत अब किसानों को सरकार 7000 रूपए ट्रांसफर करेगी।

Government Scheme

सरकार के इस सराहनीय पहल से लाखों लोगों को लाभ मिलने वाला है। हांलाकि इसके लिए कुछ शर्तें निर्धारित की गई हैं। जिसका पालन करना बहुत जरूरी है। दरअसल किसानों को अपने फसलों की सिंचाई करने के लिए काफी ज्यादा मात्रा में पानी की आवश्यकता पड़ती है। वहीं दिन प्रतिदिन पानी का लेवल हर जगह गिरता जा रहा है। इससे किसानों को काफी परेशानी हो रही है।

हरियाणा सरकार ने शुरू की मेरा पानी मेरी विरासत योजना

किसानों की इन समस्याओं को देखते हुए ही हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के किसानों को 7000 रूपए देने का निर्णय लिया है तथा मेरा पानी मेरी विरासत योजना की शुरूआत की है। देश के जिन किसानों को इस योजना का लाभ लेना है उनको पहले अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद ही किसानों को मेरा पानी मेरी विरासत योजना का भरपूर लाभ मिल पाएगा।

ध्यान रखने वाली बात ये है कि योजना के तहत किसानों को उड़द, अरहर, मक्का, तिल, बाजरा, कपास आदि फसलों की खेती करने के लिए 7000 रूपए प्रति एकड़ का लाभ दिया जाएगा। भूजल स्तर के बचाव के लिए सूक्ष्म सिंचाई पर 80 प्रतिशत पर अनुदान भी प्राप्त होगा। इस प्रकार किसानों को सरकार की तरफ से बहुत बड़ा लाभ मिलने वाला है।

आवश्यक शर्तें

  1. आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  2. 50 हॉर्स पावर के इलेक्ट्रिक मोटर का इस्तेमाल करने वाले किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  3. किसानों को अपने विगत वर्ष के धान उत्पादन के 50 प्रतिशत हिस्से में विविधता लानी होगी।
  4. किसान के पास एक ऐसा बैंक खाता भी होना चाहिए जो कि आधार नंबर से लिंक हो।

ऐसे करें लॉग इन

  1. सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाइट https://fasal.haryana.gov.in/farmer/farmerlogin पर जाना होगा।
  2. अब अपना यूजरनेम तथा पासवर्ड दर्ज करें।
  3. अब कैप्चा कोड भरकर लॉग इन करें।

Leave a Comment