Kawach Technology : रेल यात्रियों को कवच तकनीक से मिलेगी सुरक्षा, दुर्घटना पर होगा नियंत्रण

Kawach Technology : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बजट पेश करते हुए कई बड़ी घोषणाएं की। इन्ही घोषणाओं में यह भी बताया गया कि आगामी 3 वर्षों में ही 400 नई वंदे भारत ट्रेन भी चलाई जाएंगी। इसके साथ ही रेल यात्रियों के लिए कवच तकनीक की भी घोषणा की गई। बताते चलें कि कवच तकनीक (Kawach Technology) के माध्यम से रेल यात्रियों का सफर बेहद सुरक्षित होगा। आए दिन हो रहे हादसों को देखते हुए अब कवच तकनीक का प्रयोग किया जाएगा जिससे यात्रियों का सफर बेहद सुरक्षित हो सके।

2000 किलोमीटर का बनाया जाएगा रेल नेटवर्क

दरअसल सरकार ने रेल यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए कवच तकनीक का प्रयोग करने का प्लान तैयार किया है। इस तकनीक के माध्यम से आगामी दिनों में देश में 2000 किलोमीटर का रेल नेटवर्क बनाया जाएगा। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि इस तकनीक के माध्यम से रेल यात्रियों के सफर को बेहद सुरक्षित बनाया जा सकता है। यह तकनीक यात्रियों को काफी सुरक्षा प्रदान करेगी।

दुर्घटनाओं पर होगा नियंत्रण

मिली जानकारी के मुताबिक कवच तकनीक से रेल नेटवर्क को ज्यादा बेहतर बनाया जा सकेगा। जिससे दुर्घटनाओं को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकेगा। इसके अलावा इस तकनीक के माध्यम से ट्रेन की गति में भी सुधार हो जाएगा। बता दें कि पेश किए गए बजट में रेलवे को 140367.13 करोड़ रूपए का आवंटन किया गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बजट पेश करने के दौरान अपने भाषण में कहा कि रेल क्षेत्र एक स्टेशन एक उत्पाद भी विकसित करेगा। इसके माध्यम से स्थानीय उत्पादों को रेलवे के जरिए ढुलाई का लाभ भी मिलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने समर्पित माल ढुलाई कॉरीडोर के लिए 15710.14 करोड़ रूपए का आवंटन भी किया है।

अन्य महत्वपूर्ण घोषणा

वित्त मंत्री ने बजट पेश करने के दौरान कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किसानों तथा छात्रों के लिए भी कई बड़ी घोषणाएं की हैं। उन्होंने कहा कि आयकर नियमों में भी बड़ा सुधार किया जाएगा। इसके साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिव्यागों को टैक्स में राहत देने का प्रस्ताव भी जारी किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की तरफ से डिजिटल करेंसी लाने का ऐलान किया है। इसके अतिरिक्त हाई-वे विस्तार के लिए 20000 करोड़ रूपए खर्च करने की बात कही गई। वित्त मंत्री ने किसान ड्रोन को बढ़ावा देने की बात कही।

Leave a Comment