KUSUM Yojna 2022 : मुफ्त सोलर पंप लगाकर अपनी बंजर भूमि का उठाएं लाभ, ऐसे होगी आय में वृद्धि

KUSUM Yojna 2022 : भारत सरकार (Indian Government) किसानों के लिए कई प्रकार की विशेष योजनाएं चलाती है। इसमें से एक कुसुम योजना (KUSUM Yojna) भी शामिल है। इसका उद्देश्य बंजर भूमि का उपयोग करना और किसानों की आय में वृद्धि करना है। इन्हीं योजनाओं में से एक है किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महा अभियान यानी कुसुम (KUSUM)। इस बारे में भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि पीएम-कुसुम के तहत 20 लाख किसानों को स्टैंड अलोन सोलर पंप दिए जाएंगे।

किसानों को बंजर भूमि पर सौर ऊर्जा का उत्पादन करने और अतिरिक्त ऊर्जा के ग्रिड को बेचने में मदद की जाएगी। सभी उम्मीदवार जो ऑनलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं वो आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें। हम “कुसुम योजना 2022” के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान करेंगे जैसे योजना का लाभ, पात्रता मानदंड, योजना की मुख्य विशेषताएं, आवेदन की स्थिति, आवेदन की प्रक्रिया इत्यादि।

कुसुम योजना का उद्देश्य

किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान अभियान (KUSUM) योजना के मुताबिक 2022 तक देश में 3 करोड़ पंप बिजली या डीजल की जगह सौर ऊर्जा से चलाए जाएंगे। कुसुम योजना पर कुल 1.40 लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसका उद्देश्य बंजर भूमि का उपयोग करना और किसानों की आय में वृद्धि करना है। इससे किसानों को भी बहुत लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत किसानों को बंजर भूमि पर सोलर पंप लगाने के साथ अतिरिक्त बिजली की आपूर्ति करने में मदद की जाएगी।

सबसे बड़ी बात यह है कि ये सोलर पंप 90% सब्सिडी पर उपलब्ध होंगे। अगर आप अभी तक इस प्लान के बारे में नहीं जानते हैं तो आइए आज हम आपको इस प्लान के बारे में बताते हैं और साथ ही बताते हैं कि आप इस योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं। इसके लिए आपको आवेदन करना होगा तभी योजना का लाभ आसानी से आपको मिल पाएगा।

PM KUSUM Yojna में ऐसे करें आवेदन

कुसुम योजना के तहत आवेदन करने के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in/ पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास आधार कार्ड, जमीन के दस्तावेज जैसे खसरा खतौनी, डिक्लेरेशन फॉर्म, बैंक अकाउंट पासबुक समेत जरूरी जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए।

  1. कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट http://rreclmis.energy.rajasthan.gov.in/kusum.aspx पर जाएं।
  2. अब आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  3. होमपेज पर, “ऑनलाइन पंजीकरण” के विकल्प पर क्लिक करें।
  4. ऐसा करते ही आपके सामने अप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  5. अब आवश्यक जानकारी जैसे नाम, पता, आधार नंबर, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करें।
  6. इसके बाद मांगे जा रहे सभी आवश्यक दस्तावेज को अपलोड करें।
  7. आवेदन को अंतिम रूप से जमा करने के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करें।

योजना का लाभ

केंद्र सरकार किसानों को इस योजना के माध्यम से दो तरह से लाभ पहुंचाएगी। एक तो उन्हें सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली मिलेगी और दूसरी अगर वे अतिरिक्त बिजली बनाकर ग्रिड को भेजेंगे तो वैसे भी आमदनी होगी। यदि किसी किसान के पास बंजर भूमि है तो वह इसका उपयोग सौर ऊर्जा उत्पादन के लिए कर सकता है। इससे उन्हें बंजर भूमि से अच्छी आय भी होगी।

केंद्र सरकार की कुसुम योजना के तहत राजस्थान के 623 किसान 722 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन करेंगे। किसान इस योजना के तहत बंजर और अनुपयोगी भूमि में सौर संयंत्र स्थापित करके सौर ऊर्जा का उत्पादन कर सकते हैं। किसान अपनी अनुपयोगी या बंजर भूमि पर 0.5 से 2 मेगावाट क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित कर सकते हैं।

इससे किसानों को उनकी बंजर या अनुपयोगी भूमि से 25 वर्षों तक नियमित आय प्राप्त होगी। इससे राज्य के किसानों को दिन में कृषि कार्य के लिए आसानी से बिजली मिल सकेगी। इसके साथ ही वितरण निगमों के बिजली वितरण के खर्च और सिस्टम विस्तार पर होने वाले खर्च में भी कमी आएगी।

Leave a Comment