Omicron : WHO ने किया बड़ा खुलासा, कोरोना के ये नए वेरिएंट कई देशों में मचा रहे हैं कहर

Omicron : दुनिया में तेजी से पैर फैला चुका कोरोना (Corona) अब लोगों का पीछा छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहा है। कोरोना (Corona) के कहर से लोगों का संपूर्ण जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। जहां एक तरफ सरकार (Government) कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए  लोगों को तेजी से कोविड वैक्सीन (Covid Vaccine) का डोज लगवा रही है तो वहीं दूसरी तरफ कोरोना के नए-नए वेरिएंट अपना प्रकोप फैलाते ही जा रहे हैं।

WHO ने किया बड़ा खुलासा

वहीं WHO ने एक चौंकाने वाली बात कही है। WHO का कहना है कि कोरोना वायरस के वेरिएंट या सब वेरिएंट इसी तरह भविष्य में भी दिखाई देते रहेंगे। इसका सीधा मतलब ये हुआ कि कोरोना का प्रकोप अब हमेशा बना रहेगा। इससे बचाव का तरीका आपको स्वयं अपनाना पड़ेगा। अर्थात् जो भी कोरोना गाइडलाइन जारी की गई है उसका पूर्ण रूप से पालन करते रहना होगा।

ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज शुरूआती लक्षण दिखने पर हो जाएं सतर्क

WHO के इस खुलासे के बाद अब लोगों के मन में सिर्फ यही प्रश्न उठ रहा है कि क्या कोरोना का अंत अब कभी नहीं होगा? वहीं सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि ओमीक्रॉन से संक्रमित मरीजों को शुरूआती लक्षण दिखने के दौरान ही सतर्क रहना पड़ेगा। क्योंकि यदि जरा सी भी लापरवाही बरती गई तो ये जानलेवा साबित हो जाएगा। इसलिए हमेशा संभलकर रहें और कोविड गाइडलाइन का पालन करते रहें।

आपने अभी तक कोरोना का नाम सुना इसके बाद ओमिक्रॉन वेरिएंट ने देश में आतंक फैलाना शुरू कर दिया। फिर देखते ही देखते ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट BA.1, BA.2 या स्टील्थ ओमिक्रॉन तथा BA.3 ने प्रकोप फैलाना शुरू किया। वहीं अब देश में BA.4 तथा BA.5 ने भी कहर बरसाना शुरू कर दिया है। इसको लेकर WHO ने एक महत्वपूर्ण जानकारी दी है।

16 देशों में फैल चुका है BA.4

WHO से मिली जानकारी के मुताबिक ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट BA.4 ने अभी तक कुल 16 देशों में अपना पैर फैला दिया है। वहीं हैदराबाद और तेलंगाना में भी BA.4 तथा BA.5 से संक्रमित मरीज मिले हैं। जिससे की भारत वासियों की समस्या और भी बढ़ती दिखाई दे रही है। बताते चलें कि WHO मारिया वान केरखोव ने जानकारी देते हुए बताया है कि 16 देशों में लगभग 700 लोग ऐसे हैं जो BA.4 से संक्रमित हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक कई ऐसे लोग हैं जिनके अंदर इसके हल्के लक्षण देखने को मिले हैं। इसी प्रकार 17 देशों में लगभग 300 केस ऐसे हैं जो BA.5 के हैं। विशेषज्ञों के अनुसार BA.4 एक ऐसा खतरनाक वेरिएंट है जो लोगों के अंदर तेजी से फैलता है। यदि आपको सर्दी, जुकाम, सांस लेने में परेशानी, शरीर में दर्द या थकान जैसे कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो बेहद सतर्क रहने की जरूरत है।

जरूरत पड़ने पर लगवाएं बूस्टर डोज

वहीं विशेषज्ञों ने यह भी कहा है कि यदि इन सभी खतरों से आप बचना चाहते हैं तो आपको बूस्टर डोज भी लगवा लेना चाहिए। बूस्टर डोज आपको ओमिक्रॉन के सभी वेरिएंट  से बचाने में काफी मददगार साबित हो सकता है। वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगवाना भी उचित नहीं समझा है। तो ऐसे लोग अब सावधान हो जाएं।

Leave a Comment