One rank one pension: जानें किस रैंक पर पेंशन में होगी कितनी बढ़ोतरी?

One Rank One Pension: हमारे प्रिय मित्रों, जैसा कि आप सब जानते होंगे कि कैबिनेट ने ओआरओपी यानी वन रैंक वन पेंशन में संशोधन किया है।जिसका मकसद यह था कि सेना के 25.13 लाख पूर्व सैनिक लाभ प्राप्त करना चाहेंगे।इसके साथ ही कैबिनेट ने सरकार की मुफ्त अनाज योजना को भी बढ़ाने का फैसला किया है।आज का लेख मुख्य रूप से कैबिनेट के माध्यम से लिए गए निर्णय पर आधारित हो सकता है।

One Rank One Pension: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को नौसेना के कर्मचारियों के लिए वन रैंक वन पेंशन योजना को 8,450 करोड़ रुपये की अतिरिक्त वार्षिक शीर्ष दर के साथ संशोधित किया।वर्ष 2019 से 30 जून 2022 तक एरियर की आपूर्ति की जा सकती है और लगभग 25.13 लाख रक्षा बल के पेंशनधारियों को भी संशोधन से लाभ मिलेगा।जैसा कि केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के माध्यम से घोषित किया गया है, 30 जून, 2019 से पहले सेवानिवृत्त होने वाले सशस्त्र बल के कर्मचारियों को इस संशोधन के माध्यम से कवर प्रदान किया जा सकता है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि इसलिए मैं देश के पूर्व सैनिकों को दी गई गारंटी के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं।आपको पता होना चाहिए कि हमारे पूर्व सैनिक लंबे समय से वन रैंक वन पेंशन के लिए संघर्ष कर रहे हैं और अपनी मांगों को उठा रहे हैं।लेकिन पिछली सरकारों में से किसी ने भी इस पर ब्याज नहीं दिया।2014 में जब पीएम मोदी सत्ता में आए तो उन्होंने इस पर चर्चा की व्यवस्था शुरू की, जिसके कारण हमें वन रैंक वन पेंशन जैसी योजना देखने को मिल रही है.

बकाया प्रत्येक वर्ष की किश्तों के साढ़े चार से अधिक हो सकते हैं, लेकिन स्वयं के रिश्तेदार पेंशनरों के सर्कल या मुख्य रूप से और उदारीकृत अपने परिवार के पेंशनरों या वीरता पुरस्कार विजेताओं को एक ही किस्त में बकाया मिलता है।इसमें यह समझना तो दूर की बात है कि एरियर का भुगतान साढ़े चार किश्तों में किया जा सकता है, प्रस्ताव के अनुसार पेंशनरों व अपने परिवार के पेंशनरों को विस्तारित पेंशन मिलती है।सरकार के दावे के अनुसार नौसेना से सेवानिवृत्त होने वाले रक्षा बलों के कर्मचारियों की सामान्य न्यूनतम पेंशन के आधार पर पूर्ववर्ती पेंशनभोगियों की पेंशन समान अवधि के समान वाहक वित्तीय संस्थान में फिर से तय की जा सकती है।

7th Pay Commission: नए साल में कर्मचारियों को मिलेगी कई सारी खुशियां, डीए में होगी बंपर बढ़ोतरी।

Pension update: राज्य सरकार का बड़ा ऐलान। अब हर महीने मिलेगी ढाई हजार रुपए पेंशन, जानिए नियम व शर्तें।

EPF Claim: पीएफ का पैसा कितने दिन में आ जाता है ? Time Limit for EPF Claim Settlement।

PMKSNY Alert: “PAYMENT NOT RECIEVED”… यह हो रहा है शो तो जाने इसकी वजह और लाभ पाने का तरीका।

आखिर क्या है वन रैंक वन पेंशन योजना ?

वन रैंक वन पेंशन (one rank one pension) वस्तुतः समान रैंक के सेना के कर्मचारियों को समान अवधि के लिए समान पेंशन का भुगतान करने का तरीका है।यह अब किसी भी प्रकार की सेवानिवृत्ति की तारीख का मतलब नहीं है।इसका अर्थ है कि यदि किसी अधिकारी ने 1985 से 2000 तक 15 वर्षों तक सशस्त्र बलों में सेवा की है और किसी अन्य ने 1995 से 2010 तक सेवा की है, तो दोनों अधिकारियों को समान रूप से पेंशन मिलती है।

OROP पर कितनी कमाई

OROP:अब हम यहां बात कर सकते हैं कि ओआरओपी (OROP) से किसे कितना फायदा मिलता है, साथ ही हम यह भी जानने की कोशिश कर सकते हैं कि नई पॉलिसी में क्या नया देखने को मिल सकता है।यह देखने में आया है कि मनुष्य गूगल के माध्यम से उन प्रश्नों का समाधान खोजने के लिए निरंतर दौड़ रहे हैं।वे आपस में इस पर चर्चा कर रहे हैं लेकिन फिर भी वे अपनी ही भाषा के उस उत्तर को नहीं समझ पा रहे हैं, इसलिए आज के लेख में हम उन दोनों प्रश्नों का उत्तर आपकी ही भाषा में देने का प्रयास कर सकते हैं, तो फिर क्या है विलंब?

चलिये देखते हैं-

सबसे पहले आपको बता दें कि मोदी सरकार ने शुक्रवार 23 दिसंबर 2022 को हुई कैबिनेट बैठक में वन रैंक वन पेंशन के इस संशोधन फॉर्मूले को मंजूरी दे दी है।बैठक की पूरी प्रक्रिया पूरी होने के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री ठाकुर ने कहा कि पेंशन धारकों के साथ-साथ युद्ध में शहीद हुए सैनिकों की विधवाओं और विकलांग पेंशन धारकों को भी इस पेंशन का लाभ मिल सकेगा.उन्होंने यह भी बताया कि इससे 2500000 (लाख) पेंशनरों को इसका लाभ भी मिल सकेगा, इसके अलावा सरकार पर 8500 करोड़ रुपये का बोझ भी पड़ेगा।