PF Wage Limit Hike 2022-23 : पेंशन के नियमों पर केंद्र सरकार कर सकती है बड़ा बदलाव, पढ़िए खबर!

PF Wage Limit Hike 2022-23 :- मोदी सरकार ने ईपीएफ योजना के तहत वेज सीलिंग ₹15000 से बढ़ाकर ₹21000 करने की योजना बनाई है. इससे पहले दिसंबर 2014 में वेज सीलिंग की दर बढ़ाई गई थी. जैसा कि आप सभी जानते हैं,कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के खाते में हर खाताधारक की सैलरी का एक हिस्सा जमा होता है, चुकीं पीएफ खाता कर्मचारियों को सोशल सिक्योरिटी देने में मदद करता है.ऐसे में आपके लिए आज के कब खबर में क्या है खास, आइए जाने !

PF Wage Limit Hike 2022-23

PF Wage Limit Hike 2022-23
PF Wage Limit Hike 2022-23

अगर सर्कुलर जारी कर दिया जाता है कि कर्मचारी भविष्य निधि योजना के तहत वेद सीलिंग की दर ₹15000 से बढ़ाकर ₹21000 कर दी जाए, तो इसका असर सीधे तौर पर इपीएफ स्कीम और ईपीएस में होने वाले कंट्रीब्यूशन पर पड़ेगा. क्योंकि जिसकी जितनी सैलरी होती है उतने ही अनुपात में ईपीएफ और पीएफ खाते में पैसे जाते हैं, और उसका लाभ कर्मचारियों को रिटायर होने के बाद मिलता है. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो अगर वेज की सीमा बढ़ाकर ₹21000 कर दी गई तो ईपीएफ और ईपीएस पर खतरनाक असर पड़ेगा.EPFO: पीएफ खाता बंद होने के बाद भी मिलेगा ब्याज, आया नए नियम।

अब ईपीएस में शामिल होंगे ज्यादा कर्मचारी !

अब देखिए ईपीएफ कानून के मुताबिक अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी ₹15000 है, या उससे ऊपर है तो वह ईपीएस योजना में शामिल नहीं हो सकता.भले ही वह ईपीएफ योजना का पात्र हो. अब क्योंकि इसे बढ़ाकर ₹21000 कर दिया जाएगा तो जाहिर तौर पर ईपीएफ स्कीम में शामिल होने वाले कर्मचारी ₹15000 से ज्यादा सैलरी होने पर भी पेंशन योजना में शामिल हो सकेंगे. इसमें शामिल होने पर कर्मचारी पेंशन पाने के हकदार होंगे.कर्मचारियों को ध्यान रखना होगा कि, अगर वह ईपीएस के मेंबर बन जाते हैं तो एंपलॉयर का ईपीएस में कंट्रीब्यूशन कम हों जाएगा.EPFO Latest Update: सरकार EPF की सैलरी सीमा बढ़ा सकती है? फिलहाल यह सीमा ₹15,000 है.

ईपीएफओ यानी सोशल सिक्योरिटी !(क्या, कैसे आइए जाने)

चुकी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के खाते में हर खाताधारक की सैलरी का एक हिस्सा हर महीने जमा किया जाता है. ऐसे में पीएफ खाता कर्मचारियों को सोशल सिक्योरिटी देने में भरपूर मदद करता है. इस खाते में जमा पूरे पैसे ईपीएफओ सब्सक्राइबर को 60 वर्ष की आयु के बाद मिल सकता है. इसके अलावा अगर बीच में ही कोई इमरजेंसी हो जाए, जैसे कि — बच्चों की पढ़ाई ,शादी, बीमारी इत्यादि खर्च के लिए भी आप खाते में जमा पैसे निकाल सकते हैं. इसके अलावा अगर आपने लगातार 10 साल तक नौकरी की है, तो आप ईपीएफ के पेंशन स्कीम के भी पात्र बन जाते हैं. इस प्रकार आपको ईपीएफओ सोशल सिक्योरिटी का लाभ भी मिलता है.EPFO Online Claim 2022-23 : क्या 10 कंपनियों में नौकरी बदलने से बन गए हैं कई epf अकाउंट ? करवा ले मर्ज, नहीं तो लगेगा टैक्स !!

मिनिमम सैलेरी लिमिट में होगी वृद्धि !

ऑथेंटिक सूत्रों से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक सरकारी सोर्स नया जानकारी दी है, कि देश में बढ़ती महंगाई की मार को ध्यान में रखते हुए सरकार इस मामले पर विचार कर रही है. ऐसे में अगर सरकारी ईपीएफ के मामले पर फैसला लेती है, तो ईपीएफओ का पेंशन लाभ लेने के लिए मिनिमम सैलरी के लिमिट ₹15000 से बढ़ाकर ₹21000 कर दी जाएगी.EPFO: ईपीएफओ द्वारा कर्मचारियों को बड़ी सौगात, घर बैठे मिलेगा लाखों रुपए की इंश्योरेंस.

Conclusion :- उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको आज का आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा. ऐसी ही फाइनेंस से संबंधित ट्रेंडिंग आर्टिकल के लिए हमारे वेबसाइट को लगातार फॉलो करते रहे, और हमें प्यारे प्यारे कमेंट करना ना भूलें. धन्यवाद !