PM Kisan Mandhan Yojana : पीएम किसान मानधन योजना के तहत किसानों को मिलेंगे सालाना 36000 हजार रुपये

PM Kisan Mandhan Yojana : प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना (Prime Minister Kisan Maandhan Yojana) के माध्यम से किसान हर साल 36000 हजार रुपये का फायदा पा सकते हैं। इस योजना के तहत किसानों को पेंशन के रूप में 60 साल की उम्र पार करने के बाद हर महीने 3000 हजार रुपये का लाभ उठा सकते हैं। पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Mandhan Yojana) के तहत सरकारी नौकरी करने वाले लोगों की तरह ही किसान हर महीने 3000 रुपये की पेंशन का लाभ उठा सकते हैं।

पीएम किसान मानधन योजना में इस उम्र के लोगों को लाभ

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना में 18 सल से 40 साल के बीच का कोई भी किसान इस योजना में हिस्सा ले सकता है। इस मानधन योजना में किसान की उम्र के हिसाब से राशि तय होती है। इसमें अंशदान 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक मासिक है। यह पेंशन फंड भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा प्रबंधित किया जा रहा है।

3000 रुपये मासिक पेंशन प्रदान होगी

इस योजना के तहत केंद्र सरकार छोटे और सीमांत किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद 3000 रुपये मासिक पेंशन प्रदान करेगी। पीएम किसान मानधन योजना 2022 देश भर के सभी छोटे और सीमांत किसानों के लिए एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है। इस पीएम किसान मान धन योजना के माध्यम से देश के 5 करोड़ छोटे और सीमांत किसानों को लाभ होगा।

7th Pay Commission : गणतंत्र दिवस के दिन मोदी सरकार इन कर्मचारियों को दे रही बड़ी खुशखबरी, कहीं लिस्ट में आपका नाम तो नहीं

पात्रता मापदंड

  • प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत देश के छोटे और सीमांत किसान पात्र माने जाएंगे।
  • 2 हेक्टेयर या उससे कम की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए।
  • आवेदकों की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • खेत खसरा खतौनी
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट तस्वीर

पीएम किसान मन धन योजना 2022 के लिए आवेदन कैसे करें

जो लोग इस प्रधानमंत्री किसान मन धन योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना चाहिए और योजना के तहत आवेदन करके लाभ प्राप्त करना चाहिए।

  • सबसे पहले आवेदन को अपने सभी दस्तावेजों को नजदीकी लोक सेवा केंद्र में ले जाना होगा।
  • इसके बाद अपने सभी दस्तावेज वीएलई को देने होंगे और ग्राम स्तर के उद्यमी को एक निश्चित राशि का भुगतान करना होगा।
  • फिर वीएलई आपके आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड को लिंक करेगा और व्यक्तिगत विवरण और बैंक विवरण भरेगा। फिर देय मासिक योगदान की गणना ग्राहक की आयु के अनुसार स्वतः की जाएगी।
  • नामांकन सह ऑटो-डेबिट मैंडेट फॉर्म मुद्रित किया जाएगा और ग्राहक द्वारा आगे हस्ताक्षर किए जाएंगे। फिर वीएलई उसे स्कैन करेगा और अपलोड करेगा। फिर किसान पेंशन खाता संख्या जनरेट होगी। और किसान कार्ड प्रिंट हो जाएगा।

Leave a Comment