PM Kisan Yojana : किसानों को मिलेगा दिवाली गिफ्ट, किस्त की राशि बढ़कर हुई इतने हजार रुपये!

PM Kisan Yojana: किसान आंदोलन को लेकर आज संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद का ऐलान किया है.इस बीच मोदी सरकार जल्द ही हम के 12 करोड़ से ज्यादा किसानों को एक बड़ा तोहफा दे सकती है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक…किसान आंदोलन को लेकर आज संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद का ऐलान किया है.

Latest Update: इस बीच मोदी सरकार जल्द ही हम के 12 करोड़ से ज्यादा किसानों को एक बड़ा तोहफा दे सकती है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की राशि को दोगुना करने पर विचार कर रही है.अगर ऐसा होता है तो किसानों को 6000 रुपये सालाना की जगह वरीयता में 4000-4000 रुपये की 3 समान किस्तों में 12000 रुपये मिलते हैं।

आपको बता दें कि हम में से 12.14 करोड़ किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीकृत थे।यह बात उस दिन से कही जा रही है जब बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कुछ दिन पहले दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात के बाद मीडिया से कहा था कि पीएम किसान सम्मान निधि की राशि दोगुनी की जा सकती है.

PM Kisan Yojana: 12 करोड़ किसानों की हुई मौज! 12वीं किस्त से पहले मिलेगा एक और बड़ा फायदा, जल्दी करें ये काम

इसके लिए प्रशासन ने सारे इंतजाम कर लिए हैं

बात अगर किसानों की करें तो किसान सम्मान निधि उगाने की चाहत में भी उनका भरोसा अब आसान नहीं रह गया है।
उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के किसान श्रवण सिंह का कहना है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए मोदी सरकार ऐसा कर सकती है.योगी सरकार ने अब साढ़े चार साल से गन्ने का रेट नहीं बढ़ाया, बल्कि चुनाव आते ही कीमतों में सुधार किया।एक अन्य किसान विनय सिंह का कहना है, ”जब पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं तो सम्मान निधि में भी बढ़ोतरी होनी चाहिए. डीजल के महंगे होने से खेती की कीमत बढ़ रही है. वैसे भी मजदूरी बहुत ज्यादा हो गई है.यदि वह वास्तव में अपनी आय को दोगुना करना चाहता है, तो उसे खेती की फीस कम करनी चाहिए और उसके लिए सबसे अच्छा तरीका किसान सम्मान निधि की मात्रा में वृद्धि करना है।आपको बता दें कि मीडिया और गांव की चौपालों में हो रही इस तरह की चर्चाओं के बीच अब प्रमुख सरकार ने मंत्री के इस दावे को नहीं दिखाया है.वहीं, यह कोई अनोखी बात नहीं है कि किसानों को भी उम्मीद है कि 2024 से पहले सरकार पीएम किसान की राशि बढ़ा सकती है।आपको बता दें कि अब तक प्रमुख सरकार पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 2000-2000 रुपये की नौ किस्तें जारी कर चुकी है।

अब 30 नवंबर तक नौवीं किस्त की राशि अंतिम किसानों के खाते में भेजी जाएगी।इसके बाद अगली किस्त 15 दिसंबर तक आ सकती है।आपको बता दें कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2018 में शुरू की गई है।योजना का लक्ष्य 2022 का उपयोग करके किसानों की आय को दोगुना करना है।अमरेंद्र प्रताप ने बताया कि इस योजना के तहत अब तक 1.38 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि बिलों में भेजी जा चुकी है.

7th CPC DA Hike Date 2022:बड़ी खुशखबरी !कर्मचारियों को अक्टूबर की सैलरी के साथ मिलेगा Salary-Arrears का लाभ

रजिस्ट्रेशन अभी कर लें, मिलेंगे 4000

अगर आप अब तक इस योजना का लाभ नहीं ले पाए हैं तो तीस सितंबर तक 4000 रुपये मिलने का बड़ा खतरा हो सकता है।आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत इस वित्तीय वर्ष की दूसरी किश्त यानी अगस्त-नवंबर के तहत 10.27 करोड़ किसानों के कर्ज में 2000 रुपये की राशि पहुंच चुकी है.तो लंबे समय तक योजना के तहत 12.14 करोड़ किसान परिवार जुड़े रहे।वहीं, 30 नवंबर तक अंतिम किसानों का कर्ज तक पैसा पहुंच जाएगा।

PMKSN दस्तावेज

PMKSN: पीएम किसान सम्मान निधि योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए आपके पास कृषि भूमि के कागजात होने चाहिए।इसके अलावा आधार कार्ड, बैंक का अप-टू-डेट खाता, प्रमाण पत्र, विषय से जुड़े तथ्य और पासपोर्ट की लंबाई की तस्वीर आवश्यक है।पीएम किसान सम्मान निधि योजना में पंजीकरण के लिए उन चरणों का पालन करें।
पहला चरण : अब पीएम किसान की वैध इंटरनेट साइट (https://pmkisan.gov.in/) पर जाएं।यहां हाल के पंजीकरण का विकल्प मिल सकता है, उस पर क्लिक करें।अब एक नया वेब पेज खुलेगा।
दूसरा चरण : नए पेज पर अपना आधार नंबर डालें और फिर रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
तीसरा चरण: पंजीकरण फॉर्म में, आपको राज्य, जिला, ब्लॉक या गांव के आंकड़ों की आपूर्ति करनी होगी।
इसके अलावा, किसानों को अपना नाम, लिंग, श्रेणी, आधार कार्ड के आंकड़े, बैंक खाते की मात्रा, जिसमें नकद हस्तांतरित किया जा सकता है, IFSC कोड, पता, मोबाइल नंबर, शुरू होने की तारीख आदि की जानकारी देनी होगी।
आप अपने खेत के आंकड़े पेश करना चाहेंगे।इसमें सर्वे या हिसाब की मात्रा, खसरा की मात्रा, टन जमीन कितनी है, यह सब आंकड़े देने होंगे।

7th Pay Commission update: महंगाई भत्ता बढ़ाने से पहले दिया बड़ा झटका, यहां देखें किन नियमों को बदला

पीएम किसान की हेल्पलाइन नंबर

इन सभी फैक्ट्स को भरने के बाद आपको इसे स्टोर कर लेना है।सभी विवरण देने के बाद, पंजीकरण के लिए फॉर्म जमा करना होगा।यदि आप किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करते हैं, तो आपको पीएम किसान के उपभोक्ता देखभाल रेंज में कॉलिंग का उपयोग करके तथ्य प्राप्त हो सकते हैं। पीएम किसान की हेल्पलाइन रेंज है – 011-24300606।