PM Kisan Yojana Update Rule : अब ऐसे लोगों के खाते में नहीं आएगी 12वीं किस्त, सरकार ने नियमों में किया परिवर्तन

PM Kisan Yojana Update Rule : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत केंद्र सरकार (Central Government) देश के किसानों को हर साल 6000 रूपए की सहायता राशि सीधे उनके  बैंक खाते (Bank Account) में भेजती है। सरकार के द्वारा यह राशि 3 किस्तों में किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाती है। अब योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को राशन कार्ड (Ration Card) की जानकारी भी साझा करनी होगी।

राशन कार्ड की देनी होगी जानकारी

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जुड़े लाभुकों के लिए एक बहुत बड़ी खबर सामने आई है। अब किसानों को इस योजना का लाभ लेने के लिए अपने राशन कार्ड की जानकारी भी साझा करनी होगी। जो किसान यह कार्य नहीं करेगा उसको अगली किस्त का लाभ नहीं मिलेगा। इसलिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे लोगों को बेहद सतर्क हो जाने की जरूरत है।

PM Kisan Yojana Update Rule

दरअसल केंद्र सरकार के द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के नियमों में कई तरह के बदलाव कर दिए गए हैं जिनको समझना बहुत ज्यादा जरूरी है नहीं तो किसानों को 12वीं किस्त नहीं मिल पाएगी। सरकार ने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लेकर फर्जीवाड़ा बढ़ता ही जा रहा था। जिन लोगों को इसका लाभ नहीं लेना चाहिए वो भी बहती गंगा में हाथ धो रहे थे। लिहाजा अब चालाकी नहीं चल पाएगी।

केंद्र सरकार ने ऐसे लोगों पर नजर बनाए रखने के लिए ही नियमों में बदलाव कर दिया है जिससे कि जरूरतमंद किसान ही योजना का लाभ ले पाएं। इससे पहले केंद्र सरकार ने किसानों के लिए ई-केवाईसी अनिवार्य कर दिया था। जिन लोगों ने सरकार के इस नियम का पालन नहीं किया उनको 11वीं किस्त का लाभ नहीं मिल सका। ठीक इसी प्रकार अब 12वीं किस्त का लाभ लेने के लिए किसानों को ई-केवाईसी के साथ-साथ राशन कार्ड की जानकारी भी साझा करनी होगी।

फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सरकार ने बनाए नियम

सीधे तौर पर कहा जाए तो सरकार ने फर्जीवाड़े को रोकने के लिए ही ये सख्त कदम उठाया है। अब आपको आवेदन करते समय अपना राशन कार्ड भी अनिवार्य रूप से अपलोड करना होगा। तभी आपको योजना का लाभ मिल पाएगा। आपको अपने राशन कार्ड की पीडीएफ कॉपी पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। इसके अलावा सरकार ने अब आधार, खतौनी तथा बैंक पासबुक की हार्ड कॉपी जमा करने की अनिवार्यता समाप्त कर दी है।

ई-केवाईसी करना अनिवार्य

वहीं जो भी किसान अभी तक एपने e-KYC की प्रक्रिया को पूरी नहीं किए हैं उनके पास 31 जुलाई 2022 तक का समय है। यदि आपने निर्धारित समय तक अपने ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी नहीं की तो आपको 12वीं किस्त का लाभ नहीं मिल पाएगा। इसलिए मौके का लाभ उठाकर जल्दी से इस कार्य को पूरा कर लें।