PMKSY Latest Update: पीएम किसान सम्मान निधि योजना में हुआ बदलाव, अब पति-पत्नी को मिलेंगे 12,000 रुपये!

PMKSY PM Kisan Samman Nidhi Update: पीएम किसान योजना के तहत किसानों के खाते में बारहवीं किस्त का पैसा वापस आने वाला है।इस बीच सवाल यह उठ रहा है कि अब इस योजना के तहत राशि पति-पत्नी दोनों को मिलती है। PM Kisan Samman Nidhi Update पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत सरकार किसानों के खाते में 6000 रुपये यानी 2000 रुपये सालाना की 3 किस्तें भेजती है.लेकिन, अब तक इस योजना में कई बदलाव हुए हैं।योजना बनाने से लेकर योजना बनाने तक, समय-समय पर उपयोगिता और समय-समय पर लगभग पात्रता को लेकर कई नई नीतियां बनाई गईं।अब इस योजना में पति-पत्नी दोनों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिलाने की बात कही जा रही है।आइए इसकी नीतियों को पहचानें।

PMKSY

PM Kisan Scheme 2022 : बड़ी खुशखबरी! इस तारीख तक मिल सकते हैं 12वीं किस्त के पैसे, जानें कैसे

क्या है पूरी जानकारी ?

PMKSN: पीएम किसान योजना के नियमों के अनुसार, प्रत्येक पति और पत्नी पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM kisan benefits) का लाभ नहीं ले सकते हैं।अगर कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो अधिकारी उसे फर्जी बताते हुए उस पर काबू पा लेंगे।इसके अलावा कई ऐसे प्रावधान हैं जो किसानों को अपात्र बनाते हैं।अगर अपात्र किसान इस योजना का लाभ लेते हैं तो उन्हें सारी किश्त सरकार को वापस करनी होगी।इस योजना के नियमों के तहत, यदि कोई व्यक्ति किसान के परिवार के भीतर कर का भुगतान कर सकता है, तो इस योजना का लाभ अब नहीं मिलेगा।यानी अगर दोनों पति-पत्नी ने पिछले साल अर्निंग टैक्स चुकाया है, तो हो सकता है कि अब उन्हें इस योजना का लाभ न मिले।

PM Kisan Scheme 2022 : वापस करना होगा आपको पैसा,लिस्ट में देखे अपना नाम

कौन हो चुके है अपात्र ?

नियम के अनुसार, यदि कोई किसान हमेशा अपनी कृषि भूमि का उपयोग कृषि के लिए नहीं बल्कि विभिन्न कार्यों के लिए करता है या दूसरों के खेतों में कार्य करता है, और वह गोला अब उसका नहीं है।ऐसे किसान भी अब इस योजना का लाभ लेने के पात्र नहीं हैं।यदि कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन क्षेत्र हमेशा उसके नाम में नहीं बल्कि उसके पिता या दादा के नाम के भीतर है, तो उसे भी अब इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

PM-Kisan Yojana Beneficiary Status 2022 : मोबाइल पर दिख रहा वेटिंग का मैसेज , जानें क्यों हो रहा है ऐसा ?

इन्हें भी नहीं मिलेगा अब लाभ

यदि कोई व्यक्ति कृषि भूमि का मालिक है, हालांकि वह केंद्रीय प्राधिकरण का कार्यकर्ता है या सेवानिवृत्त, वर्तमान या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री है, तो ऐसे व्यक्ति भी किसान योजना के लाभ के लिए अपात्र हैं।पेशेवर पंजीकृत डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड एकाउंटेंट या अपने स्वयं के रिश्तेदारों के योगदानकर्ता भी अपात्र की सूची में आते हैं।आयकर भुगतान करने वाले परिवारों को अब भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

PM Kisan Installment Status 2022: याद रहे! इस योजना का लाभ लेने वाले 1500 अपात्रों के खाते सीज,जानें कैसे होगी वसूली?

अपात्रों पर होगी कार्यवाही

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने वाले अपात्र अब बच नही सकते हैं।चाहे पति-पत्नी दोनों योजना का लाभ ले रहे हों या करदाता, पेंशनभोगी, सभी अपात्रों की वसूली होगी और उन्हें जेल भी जाना पड़ेगा।ऐसे किसानों के ठीक होने का सिलसिला उत्तर प्रदेश में शुरू हो गया है।मैनपुरी जिले में पिछले साल सरकार ने 9219 अपात्र किसानों की सूची कृषि विभाग को भेजी है।वहीं, झारखंड, तेलंगाना, बिहार, उत्तर प्रदेश के कई जिलों में उन अपात्र किसानों को पीएम किसान का पैसा जमा करने के आदेश जारी किए गए थे|

कहां जमा होगा पैसा

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पैसा लेने वाले अपात्र किसानों को उप निदेशक कृषि के कार्यालय में पैसे जमा करने होंगे।राशि जमा करने पर उन्हें रसीद दी जा सकती है।बाद में इस राशि को शासन के खाते में जमा कराने के माध्यम से शाखा को किसान के हटाए जाने की सूचना नेट पोर्टल पर फीड करने के साथ ही मिलती है।