Post office Scheme: आप भी करना चाहते है पैसा डबल? जानिए कैसे हो जाएगा 1 लाख रुपए का 2 लाख!

Post Office Scheme: पोस्ट ऑफिस की लघु बचत योजना किसान विकास पत्र में निवेश करने पर आपका कैश दोगुना हो जाता है।योजना में निवेश की शुरुआत महज 1000 रुपये से की जा सकती है।

Post Office Scheme: अगर आप उन खरीदारों में से एक हैं जिन्हें अब मार्केटप्लेस का जोखिम उठाने की जरूरत नहीं है और अपने कैश को दोगुना करना चाहते हैं तो आपके लिए भी इनमें से एक स्कीम हो सकती है।इस अनूठी योजना में आपके जमा पैसों की सुरक्षा की भी गारंटी है।जी हां, हम बात कर रहे हैं पोस्ट ऑफिस की लघु बचत योजना किसान विकास पत्र की।यह योजना वास्तव में आपकी उम्मीदों पर खरी उतरेगी, बशर्ते आप निवेश करते रहें।

Post office Scheme

Post Office: जानिए कैसे कर सकते हैं मोबाइल बैंकिंग सुविधा का उपयोग, जानिए आवेदन प्रक्रिया

कौन कर सकता है इसमें निवेश

डाकघर की किसान विकास पत्र योजना में नाबालिग के नाम पर भी निवेश किया जा सकता है।दो वयस्क भी एक साथ संयुक्त खाता खोल सकते हैं।किसान विकास पत्र में निवेश की शुरुआत कम से कम एक हजार रुपये से की जाए।इसमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है।

Post office Latest Update: रोजगार देने की तैयारी में है डाकघर, जिसके लिए विभाग से मिले 5,200 करोड़ रुपये!

पैसा कितने समय में दोगुना हो जाता है

पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक अगर निवेशक किसान विकास पत्र (KVP) योजना में पूरे समय तक बना रहता है तो 124 महीने में पैसा दोगुना हो जाता है।पोस्ट ऑफिस में किसान विकास पत्र में निवेश करने पर आपको कंपाउंड हॉबी मिलती है।फिलहाल इस स्कीम में निवेश पर 6.9% ब्याज मिलना है।

Post Office Scheme: पोस्ट ऑफिस की आई एक धांसू स्कीम! झट से डबल हो जाएगी आपकी रकम

अकाउंट ट्रांसफर भी कर सकते हैं

आप चाहें तो अपने किसान विकास पत्र खाते को एक डाकघर की शाखा से दूसरी शाखा में भी स्थानांतरित कर सकते हैं।यहां तक ​​कि केवीपी को भी एक पुरुष या महिला से दूसरे पुरुष या महिला को ट्रांसफर किया जा सकता है।इसमें नॉमिनी की सुविधा भी उपलब्ध है।किसान विकास पत्र देश भर के किसी भी डाकघर से बेचा जा सकता है।

Post Office Scheme 2022 : पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम मचा रही हैं मार्केट में धमाल ! इस शानदार स्कीम का झटपट उठाएं फायदा !

कब भुना सकते हैं

किसान विकास पत्र की परिपक्वता (Log-in) को केवीपी प्रमाणपत्र जारी होने की तारीख से 30 महीने के बाद यानी डेढ़ साल के बाद भुनाया जा सकता है।किसान विकास पत्र में निवेश पर भी टैक्स छूट का फायदा मिलता है।इसमें इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सी के तहत इनकम टैक्स में छूट ली जा सकती है।