Menu Close

Provident Fund : अब घर बैठे ट्रांसफर कर सकते हैं अपने PF अकाउंट का पैसा, जाने विधि

Provident Fund : अब घर बैठे ट्रांसफर कर सकते हैं अपने PF अकाउंट का पैसा, जाने विधि

Provident Fund : एक कर्मचारी (Employee) को अपनी नौकरी बदलने के साथ-साथ अपने पीएफ अकाउंट को भी ट्रांसफर करना पड़ता है। कई लोग जानकारी के अभाव में ऐसा नहीं कर पाते हैं। वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो इसको लेकर दौड़ भाग करने लगते हैं। तो अब आपको परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं है। आप खुद से घर बैठे अपना पीएफ अकाउंट (Provident Fund) आसानी से ट्रांसफर कर सकते हैं। इस काम में EPFO (Employees Provident Fund Organisation) खुद आपका पूरा सहयोग करेगा।

क्यों ट्रांसफर करना पड़ता है पीएफ अकाउंट

दरअसल कर्मचारी को पीएफ अकाउंट ट्रांसफर करने की आवश्यकता इसलिए पड़ती है ताकि उसे पीएफ के कुल पैसों पर अधिक ब्याज प्राप्त हो सके। आइए समझते हैं कि हम कैसे पुराने पीएफ अकाउंट को नई कंपनी में ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले तो ये आवश्यक है कि आपका पीएफ अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए। इसके साथ ही पीएफ अकाउंट में जो भी महत्वपूर्ण जानकारी हो वो अपडेट होना चाहिए। इसके अलावा अकाउंट में वो मोबाइल नंबर भी अपडेट होना चाहिए जो आप प्रयोग कर रहे हों। तभी आप अपना पुराना अकाउंट नई कंपनी में ट्रांसफर कर पाएंगे।

Provident Fund : अब घर बैठे ट्रांसफर कर सकते हैं अपने PF अकाउंट का पैसा, जाने विधि

ऐसे ट्रांसफर करें PF का पैसा

  1. सबसे पहले Unified Member Portal पर जाएं  और  फिर अपना UAN और Password लॉगइन करें।
  2. अब Online Service पर जाकर  Online Member-One EPF Account पर क्लिक करें।
  3. अब आपकी जो भी Personal Information है और अपना पीएफ अकाउंट दोनों verify करें।
  4. इसके बाद Get Details के Option पर क्लिक करें। ऐसा करते ही आपको अपनी पुरानी कंपनी के पीएफ खाते का Details दिखाई देगा।
  5. अब अपने फार्म के सत्यापन के लिए वर्तमान या पिछले नियोक्ता को select करें।

6. अब आपको Get OTP पर क्लिक करना है। यह OTP आपके UAN रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त होगा। आपके मोबाइल पर प्राप्त हुए OTP को दर्ज करें और Submit Button पर क्लिक करें।

ऐसा करते ही आपकी कंपनी के पास Online Money Transfer का Request चला जाएगा। इसके बाद कंपनी पैसा ट्रांसफर करेगी जिसके बाद EPFO का फील्ड ऑफिसर इसे Verify करेगा। तब जाकर आपका पैसा ट्रांसफर होगा। वहीं यदि आप ऑफलाइन ये प्रक्रिया करना चाहते हैं तो आपको फॉर्म 13 भरकर अपनी नई या पुरानी कंपनी को देना होगा। क्योंकि ऐसे कई लोग हैं जो शायद इतना कर पाने में सक्षम नहीं हैं।

क्या होता है EPFO

कोई भी व्यक्ति नौकरी करने के बाद जब रिटायर होता है तो वो अपने जीवन को एक वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना चाहता है। इसी के लिए उस व्यक्ति को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की आवश्यकता पड़ती है। सबसे अच्छी बात तो ये है कि कर्मचारी की असामयिक मृत्यु या सेवानिवृत्ति के समय उसके परिवार के लिए ये बहुत लाभदायक साबित होता है। EPFO में कर्मचारी के महीने के वेतन का कुछ अंश जमा होता है और उसी के बराबर की राशि नियुक्तिकर्ता भी जमा करता है। इसमें सबसे अच्छी बात ये भी है कि 8.5 प्रतिशत की दर से ब्याज भी मिलता है।

EPFO में पैसा जमा करने से न घबराएं

ये प्रक्रिया लगभग सभी बड़ी कंपनियों में चलती रहती है। कर्मचारियों द्वारा नौकरी बदलने की स्थिति में नई कंपनी के नियोक्ता मासिक राशि को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) में जमा करवाते हैं। वहीं जिन लोगों को इसके बारे में पूर्ण जानकारी नहीं होती है वो लोग अपने मासिक वेतन से पैसा कटने के नाम पर घबराने लगते हैं। जबकि हकीकत ये है कि कंपनी द्वारा सीधे हमारे खाते में आने वाले मासिक में हम कुछ भी नहीं बचा पाते हैं और सारा धन खर्च हो जाता है। जबकि EPFO आपके मासिक वेतन का कुछ ही अंश जमा करवाता है और आपको उस पर 8.5 प्रतिशत के हिसाब से ब्याज भी मिलता है। ये पैसा आपके सेवानिवृत्त होने पर या असामयिक मृत्यु होने पर आपके परिवार की मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.