RRB NTPC Exam : NTPC और ग्रुप D की परीक्षा पर लगी रोक, रेलवे ने जारी किया फरमान

RRB NTPC Exam : बिहार में RRB की NTPC परीक्षा के परिणाम को लेकर छात्रों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन ने बहुत कुछ बर्बाद भी कर दिया। एक तरफ रेलवे की संपत्ति का नुकसान तो वहीं दूसरी तरफ पुलिस कर्मियों को भी इसका भुगतान करना पड़ा। इन हालातों को देखते हुए रेलवे (Railway) ने एक बड़ा निर्णय लिया है। रेलवे ने स्नातक स्तरीय NTPC और ग्रुप D की परीक्षा को अगले आदेश तक निरस्त कर दिया है। छात्रों के उग्र प्रदर्शन के बाद से ही रेल मंत्रालय काफी सक्रिय हो गया है।

परीक्षा से जुड़े सभी पहलुओं पर हो रहा है विचार

मिली जानकारी के अनुसार, परीक्षा से जुड़े सभी पहलुओं पर विचार किया जा रहा है। ऐसे कयास भी लगाए जा रहे हैं कि शायद कोई अच्छा रास्ता मिल जाए। फिलहाल के लिए हिंसक झड़प को देखते हुए दोनों परीक्षाओं पर आगामी आदेश होने तक के लिए रोक लगा दी गई है।

बढ़ती हिंसा को देखते हुए रेलवे ने उठाया कदम

दरअसल छात्रों ने पैटर्न में बदलाव तथा परीक्षा परिणाम में धांधली का आरोप लगाते हुए बिहार में जमकर उत्पात मचाया है। जिसको लेकर रेल मंत्रालय काफी नाराज है। इसी वजह से बुधवार को रेलवे ने ये निर्णय लिया कि अगले आदेश तक इन दोनों परीक्षाओं पर रोक लगा दिया जाए।

पूरी घटना की गंभीरता से होगी जांच

ट्रेन में आगजनी और पुलिस पर पथराव के कारण बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। इसको देखते हुए रेल मंत्रालय ने भी नाराजगी जाहिर की है। इस घटना की जानकारी मिलते ही रेलवे मंत्रालय ने सख्त कदम उठाते हुए उपद्रवियों के लिए नोटिस जारी कर दिया। नोटिस में साफ तौर पर कहा कि इस घटना की गंभीरता से जांच की जाएगी। जो लोग भी इस प्रदर्शन में शामिल पाए गए उन पर पुलिस कठोर से कठोर कार्रवाई करेगी। इतना ही नहीं बल्कि ऐसे लोगों पर आजीवन रेलवे की परीक्षा देने पर रोक लगाया जा सकता है।

देशव्यापी आंदोलन करने की तैयारी में थे छात्र

जारी की गई सूचना में इस बात का भी जिक्र है कि रेलवे भर्ती बोर्ड हमेशा पारदर्शी और निष्पक्ष तरीके से भर्ती की प्रक्रिया पूरी करता है। उम्मीदवारों को यह नसीहत दी जाती है कि वो ऐसे लोगों के बहकावे में बिल्कुल न आएं जो लोग खुद के स्वार्थ के लिए उनका प्रयोग कर रहे हैं। हांलाकि उम्मीदवारों द्वारा खुले तौर पर ये आरोप लगाया जा रहा है कि परीक्षा परिणाम में धांधली की गई है।

बताते चलें कि छात्रों ने गणतंत्र दिवस के दिन तथा 28 जनवरी को देशव्यापी आंदोलन करने का मंसूबा भी तैयार कर लिया था। अब रेलवे के इस फैसले के बाद स्थिति नियंत्रित होने की आशंका जताई जा रही है।

Leave a Comment