Sukanya Samriddhi Yojana : महज 1000 रूपए का निवेश करने पर आपकी बेटी को मिलेंगे 5 लाख से भी ज्यादा रूपए

Sukanya Samriddhi Yojana : वर्तमान में बेटियों के भविष्य को निखारने के लिए एक पिता अपने जीवन भर की कमाई संभाल कर रखना चाहता है। सरकार (Government) बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए तथा उनके भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं (Scheme) चला रही है। सरकार ने बेटियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) शुरू की है।

सरकार बेटियों के लिए चला रही है ये खास योजना

कई लोग ऐसे हैं जो थोड़े-थोड़े पैसे जुटा कर किसी स्थान पर रखते जाते हैं या फिर कहीं निवेश करके बेटियों के भविष्य के लिए बड़ा धन एकत्रित करते हैं। उस पैसे से वो अपनी बेटी की शादी करते हैं या फिर उनको पढ़ाने के लिए उपयोग में लेते हैं। सरकार ने भी एक ऐसी योजना चलाई है जिसमें थोड़ा-थोड़ा निवेश करके आप अपनी बेटी का भविष्य निखार सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana

सरकार ने बेटियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की है। बताते चलें कि सरकार ने जुलाई से लेकर सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दरों की घोषणा की है। Sukanya Samriddhi Yojana में अन्य स्मॉल सेविंग की तुलना में काफी अच्छा रिटर्न मिलता है। आप चाहें तो महज 250 रूपए जमा करके भी इस योजना में शामिल हो सकते हैं। इसमें आपको काफी अच्छा ब्याज मिलता है।

15 वर्षों तक करना होगा निवेश

इसके अलावा टैक्स छूट में भी लाभ मिलता है। इस योजना में आपको सिर्फ 15 वर्षों तक ही पैसा जमा करना होता है। इसका मैच्योरिटी पीरियड 21 वर्ष तक है। सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि सरकार इस योजना पर 7.6 फीसदी सालाना दर से ब्याज मुहैया करवा रही है। बताते चलें कि एक फाइनेंशियल ईयर में अधिक से अधिक 1.5 लाख रूपए तक पैसा जमा किया जा सकता है।

महज 250 रूपए जमा करके खोल सकते हैं खाता

इस योजना में खाता खोलने के बाद आपको कम से कम 250 रूपए जमा करना पड़ता है। यदि आपने किसी फाईनेंशियल ईयर में कोई भी राशि जमा नहीं की तो आपके ऊपर 50 रूपए का जुर्माना लगेगा। खास बात ये है कि यदि आपकी बेटी की उम्र 10 साल है तो आप Sukanya Samriddhi Yojana में खाता खुलवा सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि इस योजना के तहत इसमें सिर्फ एक ही बेटी का खाता खोला जा सकता है।

बेटी को मिलेंगे इतने पैसे

मान लीजिए कि आपकी 2 बेटियां हैं तो दोनों के नाम पर अलग-अलग खाता खुलवाना होगा। आप ये खाता किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवा सकते हैं। यदि आप बेटी के जन्म लेने के बाद ही ये खाता खुलवा लेते हैं तथा हर महीने 1000 रूपए जमा करना शुरू कर देते हैं तो कुल सालाना राशि 12000 रूपए जमा होगी। बेटी जब 15 वर्ष की हो जाएगी तब आपका निवेश 180000 हो जाएगा। वहीं जब आपकी बेटी 21 वर्ष की हो जाएगी तब 347445 रूपए ब्याज मिलने लगेगा। यानि कि 21 साल के बाद आपकी बेटी को 527445 रूपए प्राप्त होंगे।