Sukanya Samriddhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना के नियमों में बदलाव, जानिए कैसे मिलेगा लाभ।

Sukanya Samriddhi Yojana: समय-समय पर देश की महिलाओं और युवतियों के लिए देश की केंद्र और राज्य सरकारें आपको कई तरह की योजनाएं देती हैं। उन योजनाओं के माध्यम से सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास करती है। ऐसी ही एक छोटी बचत योजना का नाम है सुकन्या समृद्धि योजना। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा अनूठी बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए यह योजना जारी की गई है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवाकर आप हर महीने एक छोटी राशि जमा कर बच्चियों के भविष्य के लिए एक बड़ा फंड (इन्वेस्टमेंट फॉर गर्ल चाइल्ड) तैयार कर सकते हैं। इस योजना के तहत प्रत्येक खाताधारक को जमा पर 7.6 प्रतिशत ब्याज दर मिलती है।

Sukanya Samriddhi Yojana

PM Kisan Yojana: सरकार का बड़ा फैसला, खेत में पराली जलाने वाले किसानों को नहीं मिलेगा किसान सम्मान निधि का लाभ

क्या है सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samridhi Yojana)

Sukanya Samridhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना इन्हीं दीर्घकालीन योजनाओं में से एक है, जिसमें निवेश करके आप अपनी बेटी की पढ़ाई और भविष्य के बारे में निश्चित कर सकते हैं। इसके लिए आपको बहुत पैसा लगाने की भी जरूरत नहीं है। इस प्लान में कई प्राथमिक बदलाव हो रहे हैं। नए नियमों के तहत खाते में गलत शौक के विपरीत की सुविधा को हटा दिया गया है। इसके अलावा, खाते में वार्षिक शौक को प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में जमा किया जा सकता है। पहले यह नियम बना था कि बेटी 10 साल बाद ही खाते का संचालन करे। लेकिन नए नियमों के तहत अब बेटी को 18 साल की उम्र से पहले अकाउंट ऑपरेट करने की इजाजत नहीं होगी। इससे पहले सबसे प्रभावी माता-पिता खाते को संचालित करने के लिए रखेंगे।

Jeevan Pramaan Patra Latest News: EPFO ने life Certificate के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, जानें डिटेल्स

अब ‘तीसरी’ बेटी का भी खोल सकेंगे आप खाता (Bank A/C For Scheme)

Bank A/C For Scheme: इस योजना पर पहले 80सी से कम टैक्स छूट का लाभ बेटियों के खाते में सबसे ज्यादा मिलता था। यह लाभ अब 1/3 बेटी के पास नहीं था।नए नियम के तहत अगर एक बेटी के बाद दो बेटियां पैदा होती हैं तो उनमें से प्रत्येक का भी खाता खोलने का प्रावधान होगा।

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते के बाद भी होगी बढ़ोतरी! मिलेगा इसका फायदा

डिफॉल्‍ट अकाउंट पर नहीं बदलेगी अब ब्‍याज दर (Interest Rate)

Interest Rate: इसके तहत सालाना कम से कम 250 रुपये खाते में जमा करना जरूरी है। यदि यह राशि जमा नहीं की जाती है, तो खाते को डिफ़ॉल्ट माना जाता है।लेकिन नए नियमों के तहत, यदि खाता फिर से सक्रिय नहीं किया जाता है, तो ब्याज मैच्योरिटी तक खाते में जमा राशि के लिए लागू शुल्क पर अर्जित होता रहेगा। इससे पहले, डिफॉल्ट किए गए ऋणों ने डाकघर बचत खाते के लिए प्रासंगिक शुल्क पर शौक अर्जित किया था।

PMKSN Update: इस दिन आएगी 2,000 रुपये कीक अगली किस्त, जानिए डिटेल

तय समय से पहले बंद कर सकते हैं आप अकाउंट (Bank Account)

Bank Account: सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोला गया खाता किसी भी परिस्थितियों में बंद हो जाएगा। पहला अगर बेटी की मृत्यु हो जाए और दूसरा अगर बेटी के घर का सौदा बदल जाए। लेकिन नए बदलाव के बाद इसमें खाताधारक की जानलेवा बीमारी को भी कवर किया गया है।अभिभावक की मृत्यु के बाद भी खाते को अग्रिम रूप से बंद किया जा सकता है |