TET Exam 2022 : TET Exam में हुआ बदलाव, सरकार ने लिया बड़ा निर्णय

TET Exam 2022 : शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET Exam) की नियमावली में झारखंड सरकार (Jharkhand Government) की तरफ से बड़े बदलाव किए गए हैं। जिसमें पहला तो ये है कि शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) में भाग लेने वाले अभ्यर्थियों को झारखंड राज्य से ही इंटरमीडिएट तथा मैट्रिक की पढ़ाई पूरी करना अनिवार्य है। वहीं दूसरा बड़ा बदलाव क्षेत्रीय भाषा तथा जनजाति के संबंध में किया गया है।

झारखंड सरकार ने इन नियमों में किया बदलाव

बताते चलें कि झारखंड सरकार ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) की नियमावली में बड़ा बदलाव किया है। जिसमें ये स्पष्ट रूप से कहा गया है कि कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) में सिर्फ वही अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं जो झारखंड से ही इंटरमीडिएट तथा मैट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके हैं। इतना ही नहीं झारखंड सरकार ने क्षेत्रीय भाषा तथा जनजाति को लेकर भी एक बड़ा ऐलान किया है।

सभी जिलों में बोली जाने वाली भाषा की हो जानकारी

जिसमें ये कहा गया है कि शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) में भाग लेने वाले उम्मीदवार को सभी जिले में बोली जाने वाली भाषाओं का भी ज्ञान होना चाहिए। इसके लिए अधिसूचना भी जारी कर दी गई है। बता दें कि झारखंड राज्य में शिक्षकों की नियुक्ति हेतु योग्यता निर्धारित करने के लिए झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा नियमावली 2022 तैयार की गई है। वहीं राज्य सरकार ने एक बैठक का आयोजन करते हुए इस नियमावली पर मुहर लगा दी है।

प्रत्येक वर्ग के लिए अंकों का निर्धारण

वहीं शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) में भाग लेने वाले प्रत्येक कैटेगरी के अभ्यर्थियों के लिए अंकों का निर्धारण भी किया गया है। जैसे OBC कैटेगरी के अभ्यर्थियों के लिए कम से कम 35 फीसदी प्राप्तांक तथा कुल प्राप्तांक 55 फीसदी तक निर्धारित किया गया है। वहीं आर्थि रूप से कमजोर अभ्यर्थियों के लिए कम से कम 35 फीसदी प्राप्तांक तथा कुल 55 फीसदी प्राप्तांक लाना अनिवार्य है। वहीं दिव्यांग कैटेगरी के अभ्यर्थी के लिए कम से कम प्राप्तांक 30 फीसदी तथा कुल प्राप्तांक 50 फीसदी निर्धारित किया गया है।

वहीं जिन लोगों ने वर्ष 2013 तथा वर्ष 2016 में झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा पास कर ली है उनके प्रमाण पत्र की मान्यता आजीवन रहेगी।

Leave a Comment