Sun. Sep 25th, 2022
UP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प का स्वतंत्र देव सिंह ने दिया जवाब

UP Election 2022 : राजनीतिक उठा-पटक के बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने अब भाजपा को घेरना शुरू कर दिया है। वहीं दिग्गज नेता भी भाजपा का साथ छोड़कर साइकिल को दुरूस्त करने में जुट गए हैं। ऐसा मंजर दिखाई दे रहा है जैसे भाजपा इन दिनों कितनी बेबस हो चुकी है। वहीं इस बार विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में अखिलेश यादव ने संकल्प लिया है कि वो जीत हासिल करके ही दम लेगें।

हांलाकि भाजपा ने भी हार नहीं माना है बल्कि पश्चिमी यूपी में पहले की तुलना में अधिकतम सीटों पर कब्जा करने की उम्मीद लगाए बैठी है। एक तरफ सत्ता पर कब्जा करने के लिए अखिलेश यादव नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं तो वहीं भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व इस बात को हल्के में ले रहा है। भाजपा का मानना है कि जनता काम को देखकर इंसाफ करेगी। जनता ने जो फैसला पहले किया है इस बार भी कोई संदेह नहीं रहेगा।

अखिलेश यादव ने भाजपा को हराने का लिया संकल्प

अखिलेश यादव ने एक नया दांव खेलते हुए सत्ता पर कब्जा करने के लिए अब किसानों को मोहरा बनाया है। उन्होंने मुट्ठी में गेहूं और चावल लेकर ये संकल्प लिया है कि इस बार भाजपा को हराकर रहेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि इस बार यदि वो सत्ता में आते हैं तो गन्ना किसानों को 15 दिन के अंदर भुगतान कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं किसानों को मुफ्त बिजली, बीमा और ब्याज मुक्त लोन भी दिया जाएगा।

स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश यादव को दिया जवाब

हांलाकि अखिलेश यादव के इस संकल्प का भाजपा के प्रेदश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने करारा जवाब दिया है। स्वतंत्रदेव सिंह ने इस संकल्प को किसानों के प्रति एक ढोंग करना बताया है। स्वतंत्रदेव सिंह ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि जो लोग हांथों में गन लेकर घूमते हैं वो आज हांथ में अन्न लेकर किसान हितैषी बनने का ढोंग कर रहे हैं। इतना ही नहीं आगे बढ़ते हुए उन्होंने ये भी लिखा कि इनके सपा शासन में हमारे किसान भाई रात को अपने खेतों में जाने से भी घबराते थे।

चाचा शिवपाल का परिवार के लिए जाग उठा प्रेम

सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का साथ देने के लिए चाचा शिवपाल यादव ने भी संकेत दे दिए हैं। तमाम मन मुटाव को लेकर जहां शिवपाल यादव ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया था तो वहीं अब उनके भी कदम समाजवादी पार्टी की तरफ बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। चाचा शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि वो सिर्फ चुनाव चिन्ह साइकिल पर ही अपना उम्मीदवार उतारेंगे।

इन बातों ने ये साफ कर दिया है कि शिवपाल सिंह यादव भी अखिलेश यादव का पुरजोर समर्थन करेंगे। इतना ही नहीं उन्होंने अखिलेश यादव की तरफ संकेत करते हुए ये बयान दिया है कि मैंने उनको अपना नेता मान लिया है और टिकटों का फैसला भी वही करेंगे। समाजवादी पार्टी में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर हुए मन मुटाव के बाद ही शिवपाल सिंह यादव ने एक नई पार्टी का गठन किया था। लेकिन अचानक उनके इस बदलते सुर ने सियासत को एक नया मोड़ दे दिया है।

शिवपाल यादव ने अपर्णा को दी नसीहत

वहीं शिवपाल यादव ने अपना रूख अपर्णा यादव की तरफ किया और बोले कि मुलायम सिंह यादव की बहू को समाजवादी पार्टी का ही साथ देना चाहिए। एक लंबे अरसे के बाद शिवपाल यादव का दिखाई दे रहा प्रेम कुछ बड़ा संकेत कर रहा है। वहीं प्रदेश में बढ़ रही सियासी हलचलों के बीच राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी तेजी से बढ़ गया है। ये नेता अपनी धुन में इतने मस्त हैं कि व्यक्तिगत टिप्पणी करने में भी पीछे नहीं हट रहे हैं।

अक्सर ऐसा देखने को मिलता रहा है कि कोई जनसभा हो या फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस हर बार अखिलेश यादव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर व्यक्तिगत टिप्पणी करते नजर आते हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनको बबुआ कहकर संबोधित करते हैं।

By Team UPR

I AM A MS DEGREE HOLDER AND A ENTHUSIAST. I LOVE WRITING BLOGS AND HELPING PEOPLE BY PROVIDING THEM WITH UNEXPLORED INFORMATION ON VARIOUS TOPICS. I LOVE WORKING ONLINE AND EXPLORING NEW IDEAS.

Leave a Reply

Your email address will not be published.