UP News : किसानों की समस्या का होगा समाधान, 17 अक्तूबर को जारी होगी पीएम सम्मान निधि की किश्त

Uttar Pradesh: निर्णय मध्य/सहायता तालिका के माध्यम से कृषि शाखा के कर्मचारी किसानों का नाम, पिता का नाम, मोबाइल/आधार/पीएम किसान आईडी रेंज का दस्तावेजीकरण करेंगे और किसानों की सहायता से बताई गई परेशानी का सामना करेंगे।इसके बाद, उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि के उसी पुराने को ध्यान में रखते हुए भूलेख अंकन, ई-केवाईसी और पंजीकरण के लिए गुप्त रखा जा सकता है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के किसानों को आत्मनिर्भर और आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ उनकी आमदनी बढ़ाने के लिए योगी सरकार समर्पण भाव से काम कर रही है.इसी कड़ी में 17 अक्टूबर को सरकार पीएम सम्मान निधि की बारहवीं किस्त जारी करने की तैयारी में है।सरकार ने किस्त मुक्त करने के साथ ही किसानों की परेशानी दूर करने के लिए कॉल सेंटर सह सहायता तालिका की सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया है।इस त्रिस्तरीय सहायता तालिका के माध्यम से देश के लाखों किसान सम्मान निधि की तरह भूलेख मार्किंग, ई-केवाईसी और पंजीकरण जैसी समस्याओं का चुटकी भर जवाब सिर्फ एक टेलीसेल फोन पर प्राप्त कर सकेंगे।

यह नाम मध्य सह ऑनलाइन हेल्पलाइन तालिका 3 स्तरीय हो सकती है।यानी मुसीबतों को 3 स्तरों पर हल किया जा सकता है।पहले इंप्रूवमेंट ब्लॉक डिग्री पर, दूसरा डिस्ट्रिक्ट डिग्री पर और 1/3 किंगडम डिग्री पर।सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक कृषि विभाग के कर्मी इन सहायता डेस्कों पर किसानों की समस्याओं पर ध्यान देंगे और निर्धारित समयावधि में उनका निराकरण भी करेंगे.कृषि विभाग उन सहायक डेस्कों के लिए प्रमाणित और कुशल कर्मचारियों की पेशकश करेगा, जो इनशिफ्ट में करेंगे।विकासखण्ड स्तर पर किसान मेरी दृष्टि में उपहार स्वरूप रहें और उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत करायें, साथ ही जिला एवं राज्य स्तर पर कृषि विभाग के कार्मिकों से सम्पर्क स्थापित कर सकेंगे।अविवाहित नाम के साथ।

7th Pay Commission latest news: महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी, इस दिन कर्मचारियों के खाते में आएगा 18 महीने का बकाया

हर समस्या का समाधान

निर्णय केंद्र/सहायता डेस्क के माध्यम से कृषि शाखा के कर्मचारी किसानों के नाम, पिता का नाम, मोबाइल/आधार/पीएम किसान आईडी की विस्तृत विविधता की रिपोर्ट करेंगे और किसानों के माध्यम से बताई गई परेशानी से निपटेंगे।इसके बाद उन्हें भूलेख मार्किंग, ई-केवाईसी और पीएम किसान सम्मान निधि के उसी पुराने के अनुसार पंजीकरण की जानकारी दी जा सकती है।इसके अलावा सम्मान निधि से जुड़े अन्य मुद्दों पर भी सुनवाई की जाएगी और निर्धारित समय के भीतर उनका जवाब सुनिश्चित किया जाएगा।यदि विकासखंड स्तर पर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो किसान जिला स्तर पर और फिर राष्ट्र स्तर पर बात कर सकेंगे।

PM Kisan Status Update : 17 अक्टूबर को किसानों के खाते में आ जाएंगे 12वीं किस्त के पैसे ! ये रहा डिटेल्स

EPFO: पीएफ खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी, जल्द खाते में आएंगे रुपए, जल्दी चेक करें स्टेटस

2.60 करोड़ किसानों को होगा लाभ

गौरतलब है कि पीएम किसान सम्मान निधि की बारहवीं किश्त 17 अक्टूबर को जारी की जा सकती है।इसका सीधा फायदा देश के 2.60 करोड़ किसानों को मिलता है.तो देश के डबल इंजन प्राधिकरणों के माध्यम से उन किसानों के बकाया पैसे में 48,324 करोड़ रुपये का लंबा सफर तय किया गया है।इतना ही नहीं, देश सरकार किसानों के शौक को लेकर कितनी संवेदनशील है इसका अंदाजा देश में किसानों के लिए चलाई जा रही मुट्ठी भर योजनाओं से लगाया जा सकता है।
पीएम फसल बीमा योजना के तहत 2308487 बीमित किसानों के माध्यम से 19 मार्च, 2017 और 1645081 हेक्टेयर भूमि का बीमा कराने को देखते हुए गन्ना किसानों को 1,78,608 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड मूल्य बनाया गया है।

किसानों को 40,20,948 करोड़ रुपये का फसल ऋण आवंटित किया गया है।कृषि में ड्रोन का उपयोग देश के भीतर शुरू हुआ।एफपीओ और कृषि स्नातक 40-50 प्रतिशत सब्सिडी पर ड्रोन प्राप्त करने में सक्षम होंगे,साथ ही पं.602 करोड़ रुपये की दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना में भूमि सुधार के लिए आवेदन किया गया है, साथ ही 27 नई मंडियों का आधुनिकीकरण किया गया है और चौवन कृषि कल्याण केंद्र भी स्थापित किए गए हैं।

8th Pay Commission Latest Update : कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, जानिए कितनी बढ़ सकती है सैलरी, पढ़िए नया अपडेट