E-Shram Card Yojana : ई-श्रम कार्ड धारकों के खाते में सरकार जल्द भेजेगी इतने रूपए, देखें डिटेल

E-Shram Yojana : ई-श्रम कार्ड (E-Shram Card) धारकों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। ई-श्रम कार्ड धारकों के खाते में सरकार ने दूसरी तथा तीसरी किस्त की राशि भेज दी है। वहीं कई ऐसे लोग भी हैं जिनके खाते में पैसा आया ही नहीं। इनमें कई लोग तो ऐसे हैं जो अपात्र हैं अर्थात् इस योजना (Scheme) का लाभ उनको नहीं दिया जा सकता है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ऐसे अपात्र लोगों की पहचान करना बहुत जरूरी है।

E-Shram Card Yojana

दरअसल केंद्र सरकार हो या राज्य सरकार दोनों ही जनता के हर वर्ग का विशेष ध्यान रखते हुए विभिन्न योजनाओँ का संचालन कर रही हैं। इसी प्रकार यूपी सरकार ने भी राज्य के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए ई-श्रम कार्ड योजना शुरू की है। जिससे कि राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को राहत मिल सके। इस योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के खाते में सरकार के द्वारा पैसा भेजने की कवायद चल रही है।

योजनाओं का गलत इस्तेमाल करते हैं लोग

यह आम तौर पर देखा जाता है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लोगों द्वारा काफी दुरूपयोग किया जाता है। देश में ऐसे लोगों की तादात बहुत है जिनको ध्यान में रखते हुए सरकार समय-समय पर जांच के आदेश देती रहती है। जिससे ये पता चल सके कि कौन-कौन से लोग हैं जो अपात्र हैं लेकिन फिर भी जबरदस्ती योजना से जुड़े हुए हैं। ऐसे लोगों के लिए ही सरकार कुछ आवश्यक मापदंड तैयार करती है।

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को मिलता है योजना का लाभ

जनवरी के महीने में सरकार के द्वारा 50 लाख से अधिक लाभुकों के खाते में 1000-1000 रूपए भेजे गए थे। जबकि कई ऐसे लोग थे जिनके खाते में ये पैसे नहीं पहुंचे। ध्यान रखें कि इस योजना का लाभ सिर्फ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को ही दिया जाएगा। ऐसे लोग जो आर्थिक रूप से बेहद कमजोर और लाचार हैं वही इस योजना का लाभ लेने के हकदार हैं।

सरकार के द्वारा ऐसे लोगों के खाते में जल्द भेजा जाएगा पैसा

गौर फरमाया जाए तो ई-श्रम कार्ड योजना का लाभ सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश के लोगों को मिल रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सहयोग से जारी किए गए शासनादेश के मुताबिक राज्य के असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले पात्र श्रमिकों को 4 महीने तक 2000 रूपए तथा इसके बाद हर महीने 500-500 रूपए दिए जाएंगे। वैसे तो सरकार के द्वारा श्रमिकों के खाते में पैसा भेजा जा रहा है लेकिन अभी भी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जिनका सत्यापन किया जा रहा है। वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद बचे हुए लोगों के खाते में भी पैसा भेज दिया जाएगा।